भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश आज सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में हैं और यहां उनका एक वीडियो काफी शेयर किया गया है. मध्य प्रदेश के इंदौर से भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय ने बुधवार को नगर निगम कर्मचारियों की क्रिकेट के बैट से पिटाई की है और यह इसी घटना का वीडियो है. फेसबुक और ट्विटर पर इस खबर के हवाले से लोगों ने आकाश को खूब जमकर निशाने पर लिया है. पत्रकार कादंबिनी शर्मा का ट्वीट है, ‘सत्ता का अहंकार ऐसा दिखता है...इसमें बाक़ियों से कोई फ़र्क़ नहीं होता.’

आकाश के पिता कैलाश विजयवर्गीय की छवि एक विवादित नेता की रही है और उन्हें ऊटपटांग बयान देने के लिए भी पहचाना जाता है. आज की घटना को लेकर भी उन्होंने अपनी इसी छवि को मजबूत करने वाली प्रतिक्रिया दी है. एक टीवी पत्रकार ने जब उनसे इस बारे में पूछा तो उनका कहना था, ‘तुम्हारी औकात क्या है!’ यही वजह है कि आज सोशल मीडिया पर उनकी भी आलोचना की जा रही है. पश्चिम बंगाल में बीते कुछ समय से हो रही हिंसक घटनाओं से इस मामले को जोड़ते हुए फेसबुक पर आशीष मिश्रा ने चुटकी ली है, ‘कैलाश विजयवर्गीय पश्चिम बंगाल के प्रभारी हैं और आकाश विजयवर्गीय इंदौर को बंगाल बनाने का प्रभार संभाल रहे हैं.’ सोशल मीडिया में इसी घटना को लेकर आई कुछ और प्रतिक्रियाएं :

कीर्तीश भट्ट | @Kirtishbhat

किड्स : तेंदुलकर
एडल्ट्स : विराट कोहली
लीजेंड्स : आकाश विजयवर्गीय

सतीश आचार्य | @satishacharya

हमारे पास एक जोरदार बल्लेबाज है, शिखर धवन के बदले इसे टीम में शामिल किया जाए :

सलिल त्रिपाठी | @saliltripathi

वे (आकाश विजयवर्गीय) मध्य प्रदेश के भविष्य के मुख्यमंत्री हैं... और अपने बैट से करतब दिखा रहे हैं. (यह हमारी खुदकिस्मती है कि उन्हें क्रिकेट के विश्वकप में यह करतब दिखाने के लिए नहीं चुना गया.)

कप्तान | @Kuptaan

जिस तरह बल्ले का इस्तेमाल आपके (कैलाश विजयवर्गीय) सुपुत्र ने इंदौर की सड़कों पर किया है उसे देखकर लगता है कि उसे इस वक़्त इंग्लैंड में होना चाहिए था... भारतीय टीम में चौथे नंबर के बल्लेबाज के स्थान पर.

उमाशंकर सिंह | @umashankarsingh

कैलाश विजयवर्गीय के विधायक बेटे आकाश विजयवर्गीय को ख़तरनाक ‘बल्लेबाज़ी’ के आरोप में गिरफ़्तार कर लिया गया है. ज़मानत पर बाहर आने के बाद वे भी एन्जॉय करेंगे.

चौकीदार नीरव मोदी | @niiravmodi

कुछ महान शख्सियतों के प्रसिद्ध नारे :

महात्मा गांधी – करो या मरो
भगत सिंह – इंकलाब जिंदाबाद
लालबहादुर शास्त्री – जय जवान, जय किसान
सुभाष चंद्र बोस – तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा.
कैलाश विजयवर्गीय – तेरी क्या औकात है!