इंग्लैंड में चल रही क्रिकेट की विश्व कप प्रतियोगिता में गुरुवार को खेले गए 34वें मैच में भारत ने वेस्टइंडीज पर 125 रनों के अंतर से शानदार जीत दर्ज की है. मेनचेस्टर में ओल्ड ट्रैफर्ड के मैदान पर खेले गए इस मुकाबले में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने वेस्टइंडीज को जीत के लिए 269 रनों का लक्ष्य दिया था. लेकिन इसका पीछा करते हुए पूरी कैरेबियाई टीम अपनी पारी के 35वें ओवर में 143 रन बनाकर पैवेलियन लौट गई.

वेस्टइंडीज की तरफ से सुनील अंबरीश ने सबसे ज्यादा 31 रन बनाए. वहीं निकोलस पूरन ने 28 तो शिमरोन हेटमायर ने 18 रनों का योगदान दिया. इन तीनों बल्लेबाजों के अलावा शेल्डन कोट्रेल (10) ही वेस्टइंडीज के ऐसे बल्लेबाज रहे जो अपनी व्यक्तिगत पारी को दहाई के आंकड़े तक पहुंचा पाने में कामयाब हो सके. वहीं 15 गेंदों पर छह रन बनाने वाले केमार रोच ने आखिर तक अपना विकेट बचाए रखा.

भारत की तरफ से अफगानिस्तान के खिलाफ हैट ट्रिक जमाने वाले मोहम्मद शमी इस मैच में भी सबसे सफल गेंदबाज साबित हुए. अपने छह ओवरों में 16 रन देकर उन्होंने तीन विकेट झटके. जसप्रीत बुमराह के खाते में दो विकेटें आईं. किफायती गेंदबाजी करते हुए उन्होंने अपने छह ओवरों में सिर्फ नौ रन दिए. इसके अलावा बुमराह ने एक ओवर मैडेन भी फेंका. इन दोनों गेंदबाजों के अलावा युजवेंद्र चहल ने भी वस्टइंडीज के दो गेंदबाजों को पैवेलियन की राह दिखाई जबकि कुलदीप यादव और हार्दिक पंड्या को एक-एक सफलता मिली.

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही. एक करीबी मामले में विवादित फैसला करते हुए हुए टीवी अंपायर ने रोहित शर्मा को आउट करार दिया. तब छठवें ओवर में भारत का स्कोर महज 29 रन था. हालांकि केएल राहुल और विराट कोहली ने भारतीय टीम के स्कोर को 98 तक पहुंचाया. फिर राहुल (48) के आउट होते ही भारतीय टीम ने विजय शंकर (14) और केदार जाधव (7) के रूप में जल्दी-जल्दी अपने दो और विकेट गंवा दिए. उस वक्त स्कोर बोर्ड पर भारत के 140 रन चढ़े थे.

लेकिन वहां से महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली ने जिम्मेदारी के साथ बल्लेबाजी की और टीम को संकट से उबारा. विराट कोहली (72) के आउट होने के बाद धोनी ने हार्दिक पांड्या (46) के साथ टीम के योग को 250 के आंकड़े तक पहुंचाया. शुरू में धीमी गति से खेलने के बाद महेंद्र सिंह धोनी ने हाथ खोले और तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से उन्होंने 61 गेंदों पर 56 रन बनाए. इस तरह भारतीय टीम अपनी पारी के निर्धारित 50 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 268 रन बनाने में कामयाब रही.

वहीं गेंदबाजी के लिहाज से वेस्टइंडीज के आंकड़े देखें तो कैरेबियाई टीम की तरफ से केमार रोच सबसे सफल गेंदबाज रहे. अपने कोटे के दस ओवरों में 36 रन खर्च करते हुए उन्होंने तीन विकेट झटके. वहीं शेल्डन कोट्रेल और जेसन होल्डर के खाते में दो-दो विकेटें आईं. इधर, दबाव के क्षणों में शानदार बल्लेबाजी करने के लिए विराट कोहली को मैच के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के सम्मान से सम्मानित किया गया.

क्रिकेट की इस विश्व कप प्रतियोगिता में अब तक खेले गए छह मैचों में भारत की यह पांचवीं जीत है. इसके अलावा उसका न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाला मैच बारिश की वजह से रद्द करना पड़ा था. इधर आज की जीत के बाद भारत के 11 अंक हो गए हैं. साथ ही अंकतालिका में वह दूसरे पायदान पर पहुंच गया है. भारत को अब अपना अगला मुकाबला मेजबान इंग्लैंड के साथ खेलना है. बर्मिंघम में होने वाला यह मैच इसी रविवार को खेला जाएगा.