क्रिकेट विश्व कप में भारत और वेस्टइंडीज के बीच आज हुआ मैच दोपहर से ही सोशल मीडिया पर लोगों की प्रतिक्रियाओं का हिस्सा बना रहा. यहां इस मैच की पलपल की अपडेट शेयर हुई हैं. भारतीय टीम ने इस मैच में 268 रन बनाए थे. ऐसे में पिछले मैच (अफगानिस्तान के खिलाफ) की ही तरह इस बार भी बॉलरों के ऊपर ज्यादा जिम्मेदारी आ गई और जो उन्होंने वेस्टइंडीज की पूरी टीम को महज 143 रन पर आउट करके बखूबी निभाई भी. इसके लिए सोशल मीडिया पर उनकी जमकर तारीफ हो रही है. एक यूजर का ट्वीट है, ‘भारतीय बल्लेबाज विश्व कप के बाकी बचे मैचों के लिए भारतीय बॉलरों से – अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो.’

इससे पहले जब भारत की बैटिंग खत्म हुई तो यहां सबसे ज्यादा चर्चा महेंद्र सिंह धोनी और विजय शंकर की हो रही थी. दरअसल इस मैच से पहले धोनी इस टूर्नामेंट में बल्ले से कोई कमाल नहीं दिखा पाए थे और वहीं पिछले मैचों में धीमी बल्लेबाजी के लिए उन्हें आलोचना भी झेलनी पड़ी थी. वेस्टइंडीज के खिलाफ उनकी 56 रनों की पारी की खास बात यह रही कि उन्होंने शुरुआत में 45 गेंदों पर सिर्फ 26 रन ही बनाए लेकिन बाद की 16 बालों पर तेज गति से 30 रन ठोक डाले. वहीं आखिरी ओवर में उन्होंने दो छक्के जड़ते हुए 16 रन बनाए. इस हवाले से धोनी के प्रशंसकों ने यहां उनके आलोचकों को जमकर निशाने पर लिया है. ट्विटर हैंडल @jhunjhunwala पर ऐसी ही एक दिलचस्प प्रतिक्रिया है, ‘असली देशद्रोही तो वे लोग हैं जो मांग कर रहे थे कि धोनी को टीम से बाहर किया जाए और वे विश्व कप से पहले संन्यास ले लें.’

विश्व कप से पहले भारतीय टीम के चयन को लेकर सबसे बड़ी चर्चा यह थी कि मध्य क्रम में बल्लेबाजी, यानी चौथे नंबर के लिए किसे चुना जाएगा. चयनकर्ताओं ने इस स्थान के लिए ऑलराउंडर विजय शंकर को मौका दिया है लेकिन अब तक उनका प्रदर्शन कोई खास नहीं रहा. आज के मैच में जब उन्हें टिककर खेलने की जरूरत थी तब वे सिर्फ 16 रन ही बना पाए. इस वजह से सोशल मीडिया यूजर्स ने उनके चयन को लेकर सवाल उठाए है. गब्बर ने चुटकी ली है, ‘नोटबंदी के बाद विजय शंकर दूसरा सबसे खराब भारतीय प्रयोग था.’

सोशल मीडिया में इस मैच को लेकर आई कुछ और दिलचस्प प्रतिक्रियाएं :

एमी गुथे | @amey_guthe

विजय शंकर का भारतीय बल्लेबाजी में योगदान :

रामचंद्र गुहा | @Ram_Guha

2019 में भारत बनाम वेस्टइंडीज कुछ-कुछ 1962 के वेस्टइंडीज बनाम भारत जैसा है.

विक्रांत गुप्ता | @vikrantgupta73

अगर चौथे नंबर के क्रम पर कमजोर बल्लेबाज है तो यह टीम के मध्यक्रम को और कमजोर कर देता है. मुझे विजय शंकर के चयन को लेकर पहले से ही आशंकाएं थीं.

रमेश श्रीवत्स | @rameshsrivats

अगले मैच से बल्लेबाजों को निर्देश दिया जाए कि वे हर ओवर के बाद धोनी के पास जाएं धीरे से उनसे कहें - ‘बॉस ये आखिरी ओवर है.’

शरद कोटरीवाला | @ModijiKaHathHai

धोनी, बाकी ओवरों में बनाम धोनी आखिरी ओवर में :