‘लोकसभा के बीते चुनाव में कांग्रेस की मध्य प्रदेश में हुई हार के लिए मैं जिम्मेदार हूं.’  

— कमलनाथ, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री

कमलनाथ का यह बयान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के एक बयान पर आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं नहीं जानता कि लोकसभा के पिछले चुनाव में पार्टी की हार के लिए कौन जिम्मेदार है. लेकिन मध्य प्रदेश की जिम्मेदारी लेते हुए मैंने पहले भी अपने इस्तीफे की पेशकश की थी.’ इससे पहले इसी बुधवार को राहुल गांधी ने कहा था, ‘मेरे इस्तीफे की पेशकश के बावजूद पार्टी शासित राज्यों के कुछ मुख्यमंत्रियों, महासचिवों, प्रभारियों और वरिष्ठ नेताओं को जवाबदेही का अहसास नहीं हुआ.’

‘आज पूरी दुनिया भारत को संभावनाओं के गेटवे के तौर पर देख रही है.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात जापान के कोबे शहर में भारतीय समुदाय को दिए अपने संबोधन में कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘आज हम पांच हजार अरब डॉलर की इकॉनॉमी की ओर बढ़ने का प्रयास कर रहे हैं. देश में डिजिटल ट्रांजैक्शन रिकॉर्ड स्तर पर हैं. पिछले कुछ वर्षों के दौरान भारत की डिजिटल साक्षरता में भी इजाफा देखने को मिला है.’ इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘भारत की 130 करोड़ की आबादी के जीवन को आसान बनाने के लिए सस्ती-सुलभ तकनीक ही हमारा लक्ष्य है.’ भारतीय प्रधानमंत्री जी-20 सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए गुरुवार को जापान पहुंचे थे.


‘पीवी नरसिम्हा राव के साथ किए गए अन्याय के लिए सोनिया गांधी और राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए.’  

— एनसी सुभाष, पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव के पोते

एनसी सुभाष ने यह बात कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता जी चिन्नारेड्डी के एक बयान पर पलटवार करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी को पार्टी और पार्टी की तत्कालीन केंद्र सरकार की तमाम गतिविधियों के बारे में जानकारी दी जाती थी. तब वे राजनीति में दिलचस्पी नहीं रखती थीं. वे नहीं चाहती थीं कि उनके बच्चे भी राजनीति में आएं.’ इसके साथ ही सवालिया लहजे में उन्होंने यह भी कहा, ‘ऐसा होने से भला किसी परिवार को दबाने का सवाल कहां से उठता है.’ इससे पहले जी चिन्नारेड्डी ने कहा था कि नरसिम्हा राव ने गांधी-नेहरू परिवार को ‘दरकिनार’ करने की कोशिश की थी.


‘अमेरिकी उत्पादों पर भारत की ओर से बहुत ज्यादा शुल्क लगाया जा रहा है जो अस्वीकार्य है.’  

— डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिका के राष्ट्रपति

डोनाल्ड ट्रंप ने यह बात एक ट्वीट के जरिये कही. इसी ट्वीट से उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं इस बारे में नरेंद्र मोदी से बात करूंगा. पिछले कई सालों से भारत अमेरिका पर ज्यादा शुल्क लगाता रहा है. हाल के दिनों में भारत ने इसमें एक बार फिर इजाफा किया था.’ इसके साथ ही डोनाल्ड ट्रंप का यह भी कहना था कि बढ़े हुए इस शुल्क को वापस लिया जाना चाहिए.