ओडिशा के एक अस्पताल में टिकटॉक वीडियो बनाना चार नर्सों को भारी पड़ गया. एक अधिकारी ने बताया कि इन चारों नर्सों को छुट्टी पर जाने को कह दिया गया है. मामला ओडिशा के मलकानगिरी का है. यहां के जिला मुख्यालय के अस्पताल की चार नर्सों ने नवजात शिशु संबंधी स्पेशल केयर यूनिट (एनएनसीयू) के अंदर टिकटॉक वीडियो बनाया था. इसमें चारों नर्स एसएनसीयू के अंदर अस्पताल की पोशाक में गाना गाती, नाचती और हंसी-ठिठोली करती दिख रही हैं.

एनडीटीवी के मुताबिक मुख्य जिला मेडिकल अधिकारी (सीडीएमओ) अजीत कुमार की सिफारिश पर मलकानगिरी जिले के जिला मजिस्ट्रेट मनीष अग्रवाल ने चारों नर्सों को छुट्टी पर जाने का आदेश दिया है. वहीं, मामले की जांच के लिए एक विशेष समिति का भी गठन किया गया है. अधिकारी ने बताया कि समिति की रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

खबर के मुताबिक इन चारों नर्सों के नाम रूबी राय, तापसी बिस्वास, स्वप्ना बाला और नंदिनी राय हैं. सीडीएमओ ने इन्हें अत्यधिक मेडिकल लापरवाही बरतने और एसएनसीयू के अंदर टिकटॉक वीडियो बनाने को लेकर कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है. मामला इसलिए भी गंभीर है क्योंकि मलकानगिरी में नवजात मृत्यु दर काफी ज्यादा है. इसी के मद्देनजर अस्पताल में अलग से एसएनसीयू बनाया गया था ताकि गंभीर रूप से नवजात बच्चों की देखरेख की जा सके.

उधर, आरोपित नर्सों ने अपनी सफाई में कहा कि उन्होंने अपनी ड्यूटी के घंटे पूरे करने के बाद वीडियो क्लिप्स बनाए थे. हालांकि उन्होंने औपचारिक यूनिफॉर्म में वीडियो बनाने की गलती मानी है.