मध्य प्रदेश के इंदौर में भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय ने जिस अधिकारी को बैट से पीटा था वह आईसीयू में है. खबरों के मुताबिक नगर निगम के भवन निरीक्षक धीरेंद्र सिंह बायस को गुरुवार देर शाम उच्च रक्तचाप (हाई ब्लड प्रेशर) की शिकायत पर अस्पताल में भर्ती किया गया. डॉक्टरों ने बताया कि 46 साल के इस अधिकारी की हालत फिलहाल स्थिर है.

उधर, भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय के समर्थन में इंदौर शहर मे पोस्टर लगने की खबरें हैं. इन पोस्टरों पर आकाश विजयवर्गीय की तस्वीर के नीचे लिखा है - ‘सैल्यूट आकाशजी’. भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय फिलहाल जेल में हैं. अदालत उन्हें सात जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेज चुकी है. उनकी दो जमानत अर्जियां खारिज हो चुकी हैं.

बीते बुधवार को इंदौर नगर निगम के कर्मचारी अतिक्रमण के खिलाफ अभियान चला रहे थे. इसी दौरान आकाश विजयवर्गीय वहां पहुंचे. बताया जाता है कि किसी बात पर कर्मचारियों से उनका विवाद हो गया. फिर उन्होंने आपा खो दिया और क्रिकेट बैट से ही एक अधिकारी को पीटना शुरू कर दिया. इस दौरान मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोकने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने. बाद में आकाश विजयवर्गीय ने कहा कि उन्हें इस बात का कोई अफसोस नहीं है. उनका कहना था, ‘यह तो शुरुआत है. हम भ्रष्टाचार और गुंडागर्दी को खत्म करके रहेंगे. हमारा लाइन ऑफ एक्शन है- आवेदन, निवेदन और फिर दनादन.’ इस मामले का केंद्र ने भी संज्ञान लिया है. गृह मंत्री अमित शाह ने इस मामले में रिपोर्ट तलब की है.

उधर, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आकाश विजयवर्गीय की गिरफ्तारी पर पुलिस को बधाई दी है. कमलनाथ ने कहा, ‘ये दुखद है कि एक भाजपा नेता इस तरह से व्यवहार करता है, मैं पुलिस को उनपर कार्रवाई करने के लिए बधाई देता हूं. कानून सबके लिए बराबर है.’