भारत मौसम में आए परिवर्तन के कई दुष्प्रभाव झेल रहा है. एक तरफ लू से लोग परेशान हैं, तो वहीं दूसरी तरफ बारिश भी अप्रत्याशित रूप से अधिक होने लगी है. अब खबर है कि देश का समुद्र जल स्तर भी बढ़ रहा है. पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने इसे लेकर चेतावनी भी दी है.

खबर के मुताबिक मंत्रालय ने उपलब्ध अध्ययनों के हवाले से बताया कि देश के कुछ हिस्सों में समुद्र का जल स्तर वैश्विक औसत की तुलना में बढ़ा है. वहीं, कुछ इलाकों में यह ज्यादा भी है. लोकसभा में एक सवाल के जवाब में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के डेटा के आधार बताया कि भारतीय उपमहाद्वीप का तापमान 0.6 डिग्री के ट्रेंड के साथ बढ़ रहा है.

वहीं, इसी डेटा में दी गई जानकारी के मुताबिक देश के कई तटीय इलाकों में समुद्र के जल स्तर में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. उदाहरण के लिए, पश्चिम बंगाल के डायमंड हार्बर स्थित समुद्र के जल स्तर में 1948 से 2005 के बीच 5.16 मिलीमीटर की बढ़ोतरी हुई है. वहीं, बीती एक सदी में गुजरात के कांडला में 2.89 मिलीमीटर की दर से समुद्र जल स्तर में वृद्धि हुई है. यह वैश्विक औसत दर 1.8 मिलीमीटर प्रतिवर्ष से ज्यादा है.