लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार को लेकर पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा इस्तीफे की पेशकश किए जाने के बाद इस पार्टी में इस्तीफों का दौर जारी है. शनिवार को राहुल गांधी के साथ एकजुटता दिखाते हुए उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के 35 और पदाधिकारियों ने इस्तीफा दे दिया है. उत्तर प्रदेश विधान परिषद में कांग्रेस के नेता दीपक सिंह ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को लिखे पत्र में कहा है, ‘आप अपने इस्तीफे पर अड़े हैं तो हमारे लिए भी अपने पद पर रहने का कोई औचित्य नहीं. मैं पार्टी द्वारा सौंपी गयी जिम्मेदारियों - नेता विधान परिषद दल और प्रदेश कांग्रेस महामंत्री पद से त्यागपत्र देता हूं.’ इसके साथ ही उन्होंने पत्र में कहा है, ‘आपसे सादर अनुरोध है कि आप अपना इस्तीफा वापस लें अन्यथा हम इससे बड़ा कदम उठाने के लिए बाध्य होंगे.’

इनके अलावा महाराष्ट्र में कांग्रेस के नेता और किसान कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने भी अपना पद छोड़ दिया है. बीते लोकसभा चुनाव में वे पार्टी की तरफ से भाजपा के नितिन गडकरी के खिलाफ नागपुर से उम्मीदवार थे और उन्हें यहां से हार का सामना करना पड़ा था. पटोले ने एक ट्वीट करके यह जानकारी दी है.

वहीं कांग्रेस की तरफ से जारी एक आधिकारिक विज्ञप्ति में बताया गया है कि उसकी उत्तर प्रदेश इकाई के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रंजीत सिंह जूदेव, महासचिव आराधना मिश्रा मोना और उपाध्यक्ष आरपी त्रिपाठी ने भी केंद्रीय नेतृत्व को अपने-अपने इस्तीफे भेज दिए हैं. इसके साथ ही शनिवार को कांग्रेस के मीडिया संयोजक और संयुक्त मीडिया संयोजक ने भी अपने पद छोड़ दिए हैं. इससे पहले शुक्रवार को मध्य प्रदेश के पार्टी प्रभारी दीपक बाबरिया और गोवा के पार्टी अध्यक्ष गिरीश चोड़नकर ने इस्तीफा दिया था.