‘मॉब लिंचिंग एनकाउंटर का नया रूप है.’  

— कल्बे जवाद, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के वरिष्ठ सदस्य

कल्बे जवाद का यह बयान देश में मॉब लिचिंग (भीड़ द्वारा हिंसा) की बढ़ती घटनाओं की निंदा करते हुए आया है. इसके साथ ही इसे दुखद बताते हुए उन्होंने यह भी कहा, ‘ऐसी वारदातों के दोषियों के लिए एक-दो साल की कैद के बजाय फांसी की सजा का प्रावधान होना चाहिए.’ कल्बे जवाद के मुताबिक, ‘लिंचिंग की घटनाओं के लिए अक्सर छोटे-मोटे नेता जिम्मेदार होते हैं. लेकिन इसकी वजह से सरकार को बदनामी उठानी पड़ती है.’

‘राजस्थान के मुसलमानों को कांग्रेस का सम​र्थन नहीं करना चाहिए.’  

— असदुद्दीन ओवैसी, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख

असदुद्दीन ओवैसी ने यह बात डेरी किसान पहलू खान और उसके दो बेटों के खिलाफ गौ तस्करी मामले में दाखिल चार्जशीट पर कही. इसके साथ ही असदुद्दीन ओवैसी ने कांग्रेस को दोहरे चरित्र वाली पार्टी भी बताया. साथ ही कहा, ‘सत्ता में आते ही कांग्रेस भी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की प्रतिकृति बन जाती है. जब वह विपक्ष में रहती है तब लिंचिंग की घटनाओं पर मगरमच्छ के आंसू बहाती है. लेकिन सत्ता में वापसी के साथ ही कांग्रेस भाजपा के अधूरे छोड़े कामों को पूरा करना शुरू कर देती है.’


‘पहलू खान के खिलाफ राजस्थान की पूर्व भाजपा सरकार ने जांच की थी और यह चार्जशीट भी उसी समय की है.’  

— अशोक गहलोत, राजस्थान के मुख्यमंत्री

अशोक गहलोत ने यह बात पहलू खान और उसके बेटों के खिलाफ दाखिल चार्जशीट से अपना पल्ला झाड़ते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘हमें देखना होगा कि कहीं मामले की जांच किसी पूर्व निर्धारित इरादे से तो नहीं की गई है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘कांग्रेस सैद्धांतिक तौर पर मानती है कि देश में लिंचिंग जैसी घटनाएं नहीं होनी चाहिए. साथ ही राजस्थान सरकार ऐसी घटना की पुनरावृति रोकने के लिए हर तरह से चौकसी बरत रही है.’


‘गद्दारों की पहचान के लिए संसद में धारा 370 व 35ए पर मतदान होना चाहिए.’  

— एमएस बिट्टा, ऑल इंडिया एंटी-टेररिस्ट फ्रंट के अध्यक्ष

एमएस बिट्टा ने यह बात पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘इन दोनों अनुच्छेदों के रद्द होने के बाद देशभर के लोगों को घाटी में जमीन खरीदनी चाहिए. इससे कश्मीर को एक बार फिर जन्नत बनाने में मदद मिलेगी.’ इसी मौके पर पंजाब में खालिस्तान के नाम पर आतंक भड़काने को लेकर एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘हमने पाकिस्तान और आईएसआई की ऐसी किसी भी कोशिश को नाकाम करने के लिए दृढ़संकल्प लिया है.’


‘किसी ने नहीं सोचा था कि इंग्लैंड की टीम अपनी ही सरजमीं पर संघर्ष करती नजर आएगी.’  

— विराट कोहली, भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान

विराट कोहली ने यह बात इसी रविवार को क्रिकेट विश्व कप प्रतियोगिता में भारत-इंग्लैंड के बीच होने वाले मैच की पूर्व संध्या पर पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘मैंने पहले भी कहा था कि विश्व कप जैसी प्रतियोगिता में ‘दबाव’ अहम भूमिका निभाएगा. हमने इस प्रतियोगिता में कोई मैच इसलिए नहीं गंवाया क्योंकि दबाव की परिस्थितियों में हम अच्छा खेले.’ इसके साथ ही विराट कोहली ने मध्यक्रम के बल्लेबाज विजय शंकर का बचाव किया. साथ ही उनका यह भी कहना था, ‘महेंद्र सिंह धोनी की क्षमताओं का आकलन एक-दो मैचों के प्रदर्शन के आधार पर करना सही नहीं है.’