सीरिया में इजरायल की ओर से किए गए हवाई हमलों में सरकार समर्थक नौ लड़ाकों और छह आम नागरिकों की मौत हो गयी, जबकि 21 अन्य घायल हुए हैं. स्थानीय सूत्रों के मुताबिक मृतकों में तीन बच्चे भी शामिल हैं.

ब्रिटेन के सीरियन ऑब्जर्वेट्री फॉर ह्यूमन राइट्स ने हमले की जानकारी देते हुए मीडिया को बताया, ‘रविवार देर रात दमिश्क के पास और होम्स प्रांत में की गई कार्रवाई में सरकार के लिए लड़ रहे लड़ाकों की मौत हुई है. कई नागरिकों की भी मौत हुई है. हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि नागरिकों की मौत कैसे हुई - क्या वे हमले में मारे गए या हमले के बाद सीरिया सेना की जवाबी कार्रवाई में?’

सीरियन ऑब्जर्वेट्री फॉर ह्यूमन राइट्स के प्रमुख रमी अब्देल रहमान ने बताया कि हमले में मारा गया सरकार समर्थक एक लड़ाका सीरियाई था, जबकि शेष विदेशी थे.

संस्था ने बताया कि इजरायली सेना ने इन हमलों के जरिए दमिश्क के पास कई ईरानी ठिकानों और एक शोध केंद्र को निशाना बनाया. इसके अलावा, होम्स प्रांत के पश्चिम में एक सैन्य हवाई अड्डे को भी निशाना बनाया गया है. इस हवाई अड्डे पर लेबनानी हिज़्बुल्लाह और ईरान के लड़ाके तैनात रहते हैं.

सरकारी समाचार एजेंसी सना ने बताया कि इजरायली हमले की प्रतिक्रिया में सीरियाई हवाई रक्षा प्रणाली के इस्तेमाल के बाद चार नागरिकों की मौत हो गई. सना ने एक सीरियाई सैन्य सूत्र के हवाले से बताया कि इज़रायली जंगी विमानों ने होम्स और दमिश्क के आसपास के इलाके में हमारे कुछ ठिकानों को निशाना बनाकर मिसाइलें गिराई थीं जिन्हें रोकने के लिए हवाई रक्षा प्रणाली का इस्तेमाल किया गया था. हालांकि, इजरायल की सेना के प्रवक्ता ने रिपोर्ट पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है.