क्रिकेट विश्व कप प्रतियोगिता के 39वें मैच में श्रीलंका ने वेस्टइंडीज के सामने जीत के लिए 339 रनों का विशाल लक्ष्य रखा है. इंग्लैंड में चेस्ट ली स्ट्रीट के रिवरसाइड स्टेडियम में खेले जा रहे इस मैच में वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर ने टॉस जीतकर श्रीलंकाई टीम को पहले बल्ला उठाने के लिए कहा था. इसके बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरी श्रीलंकाई टीम के सलामी बल्लेबाजों ने इस मौके को खूब भुनाया.

दिमुथ करुणारत्ने (32) और कुसल परेरा (64) ने पहले विकेट के लिए 93 रन जोड़े. हालांकि 16वें ओवर में जेसन होल्डर की गेंद पर करुणारत्ने के शाई होप द्वारा लपक लिए जाने के बाद कुसल परेरा भी 19वें ओवर में रन आउट हो गए. तब टीम का स्कोर 104 पर पहुंचा था. लेकिन यहां से अविष्का फर्नांडो (104) और कुसल मेंडिस (39) ने टीम का योग 189 तक पहुंचाया. मेंडिस के आउट होने के बाद क्रीज पर उतरे एंजेलो मैथ्यूज ने 20 गेंदों पर 26 रन की पारी खेली.

वहीं लाहिरू थिरीमाने ने 33 गेंदों का सामना करते हुए तेजी से 45 रन बनाए तो इसारु उडाना ने तीन गेंदों पर छह रन बनाए. इस तरह पारी के तय 50 ओवर में श्रीलंका की टीम छह विकेट के खोकर 338 रन बनाने में कामयाब रही. विश्व कप की प्रतियोगिताओं में श्रीलंका की तरफ से बनाया गया यह तीसरा बड़ा स्कोर भी है.

वहीं गेंदबाजी के लिहाज से 50 ओवर फिंकवाने के लिए कैरेबियाई कप्तान ने कुल छह गेंदबाजों का इस्तेमाल किया. शेनन गैब्रियल सबसे महंगे गेंदबाज साबित हुए. उन्होंने पांच ओवरों में 46 रन खर्च किए. साथ ही उन्हें कोई सफलता भी नहीं मिली. वहीं जेसन होल्डर ने अपने कोटे के दस ओवरों में 59 रन खर्चते हुए दो विकेट हासिल किए. शेल्डन कॉट्रेल, ओशेन थॉमस और फैबियन एलेन को एक-एक सफलता मिली.