‘उत्तर प्रदेश सरकार का अन्य पिछड़ा वर्ग की 17 जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करना सिर्फ धोखा है.’  

— मायावती, बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष

मायावती ने यह बात योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए कही. इसके साथ ही सवालिया लहजे में उन्होंने यह भी कहा, ‘जब सरकार जानती है कि इन 17 जातियों को अनुसूचित जाति का लाभ नहीं मिल सकता तो सरकार ने ऐसा फैसला क्यों किया.’ मायावती का यह भी कहना था, ‘कोई भी राज्य सरकार इन लोगों को अपने आदेश के जरिये न तो किसी श्रेणी में डाल सकती है और न ही उन्हें किसी श्रेणी से हटा सकती है.’

‘मुझे उम्मीद है कि कश्मीरी पंडितों की जल्दी ही वापसी होगी.’  

— अमित शाह, केंद्रीय गृह मंत्री

अमित शाह ने यह बात राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन लगाने के प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब देते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘कश्मीरी पंडित अपने ही देश में दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं. लेकिन वह समय भी आएगा जब कश्मीरी पंडित जम्मू-कश्मीर के मंदिरों में पूजा-पाठ करते दिखाई देंगे.’ इस मौके पर अमित शाह ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को भी याद किया. उन्होंने कहा, ‘वाजपेयी जी ने कहा था कि कश्मीर की समस्या का समाधान जम्हूरियत, कश्मीरियत और इंसानियत के तहत होना चाहिए. मैं यह बात दोहराता हूं कि नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार उन्हीं के कहे रास्ते पर काम कर रही है.’


‘उम्मीद है कि राहुल गांधी अपने इस्तीफे पर सकारात्मक रुख अपनाएंगे.’  

— अशोक गहलोत, राजस्थान के मुख्यमंत्री

अशोक गहलोत ने यह बात कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ हुई बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘यह मुलाकात काफी अच्छी रही. हमने करीब दो घंटे राहुल गांधी के साथ बातचीत की. इस दौरान उन्हें पार्टी कार्यकर्ताओं और अन्य नेताओं की भावनाओं से भी परिचित करवाया गया.’ इस मौके पर अशोक गहलोत ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर राष्ट्रवाद के नाम पर लोगों को गुमराह करने का आरोप भी लगाया.


‘गलती दोनों पक्षों की थी.’  

— कैलाश विजयवर्गीय, भाजपा महसचिव

कैलाश विजयवर्गीय ने यह बात अपने बेटे आकाश विजयवर्गीय द्वारा एक सरकारी कर्मचारी की पिटाई करने के मामले में उनका बचाव करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने उस घटना को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ बताया. साथ ही कहा, ‘मुझे लगता है कि आकाश और निगम अधिकारी दोनों कच्चे खिलाड़ी हैं.’ कैलाश विजयवर्गीय का यह भी कहना था, ‘यह बड़ा मुद्दा नहीं था लेकिन इसे बड़ा बना दिया गया.’ इससे पहले बीते हफ्ते भोपाल की एक अदालत ने मारपीट के इस मामले में आकाश विजयवर्गीय को जमानत दे दी थी.


‘मेरे उत्तर कोरिया में कदम रखने पर कोरिया के कई लोगों की आंखें भर आई थीं.’ 

— डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिका के राष्ट्रपति

डोनाल्ड ट्रंप ने यह बात उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग-उन के साथ हुई मुलाकात के बाद ‘ओसान एयर बेस’ पर अमेरिकी सैनिकों से कही. इस मौके पर उन्होंने उसे एक ‘ऐतिहासिक क्षण’ भी बताया. इसके साथ ही डोनाल्ड ट्रंप का यह भी कहना था, ‘मैं किम जोंग-उन को व्हाइट हाउस में निमंत्रित करूंगा.’