जीएसटी कलेक्शन में एक लाख करोड़ रुपये की गिरावट

वस्तु और सेवा कर यानी जीएसटी के कलेक्शन में बीते महीने करीब एक लाख करोड़ रुपये की गिरावट दर्ज की गई है. सोमवार एक जुलाई को जीएसटी लागू होने के दो साल पूरे होने के मौके पर इस नई व्यवस्था से जुड़े आंकड़े जारी किए गए थे, जिनसे ये जानकारी सामने आई. बताया जा रहा है कि मौजूदा वित्तीय वर्ष में ऐसा पहली बार हुआ है. कई जानकार इसे कई क्षेत्रों की मांग में आई कमी का परिणाम बता रहे हैं. हालांकि सरकार ने उम्मीद जताई है कि इस गिरावट के बावजूद वो मौजूदा वित्तीय वर्ष में 6.1 लाख करोड़ रुपये का जीएसटी कलेक्शन हासिल करने का लक्ष्य पूरा कर लेगी.

अमेरिका : भारत को नाटो देशों जैसा दर्जा देने से जुड़ा विधेयक सीनेट मे पारित
एक अहम घटनाक्रम में भारत को नाटो सहयोगियों जैसा दर्जा देने वाले प्रस्ताव से जुड़ा विधेयक अमेरिकी सीनेट में पारित हो गया. इस प्रस्ताव में हिंद महासागर में भारत के साथ मानवीय सहयोग, आतंक के खिलाफ लड़ाई और समुद्री सुरक्षा जैसे मुद्दों पर मिलकर काम करने की जरूरत बताई गई है. अब ये विधेयक वहां के निचले सदन यानी हाउस ऑफ रेप्रेजेंटेटिव में जाएगा. यहां से पास होने के बाद ये कानून का रूप ले लेगा. इससे अमेरिका और भारत के बीच रक्षा सहयोग को एक नए स्तर पर ले जाने में मदद मिलेगी. भारत को अमेरिका की चुनिंदा अत्याधुनिक रक्षा तकनीकें भी मिल सकेंगी. इससे पहले अमेरिका, इजरायल और दक्षिण कोरिया को नाटो देशों जैसा दर्जा दे चुका है.

17 ओबीसी जातियों को एससी श्रेणी में डालने के योगी सरकार के फैसले को मोदी सरकार ने गलत बताया
केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के उस फैसले को गैरकानूनी करार दिया है, जिसके तहत उसने 17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने का आदेश दिया है. राज्यसभा में केंद्रीय मंत्री थावर चंद गहलोत ने कहा कि ये कदम पूरी तरह से असंवैधानिक है. उन्होंने कहा कि ये संसद का विशेषाधिकार है. उनका ये भी कहना था कि अदालत में भी ये फैसला नहीं टिकेगा. थावर चंद गहलोत ने कहा कि केंद्र योगी सरकार से इस फैसले को वापस लेने का अनुरोध करेगा. इससे पहले बहुजन समाज पार्टी ने भी इस फैसले को असंवैधानिक बताया था. इसके तहत योगी सरकार ने निषाद, मल्लाह और केवट सहित 17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जातियों की सूची में शामिल कर दिया है.

महाराष्ट्र : राज्य के कई हिस्सों में बारिश ने तबाही मचाई, 30 लोगों की मौत

मुंबई सहित महाराष्ट्र के कई हिस्सों में भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. भारी बरसात के चलते राज्य में अलग-अलग जगहों पर हुए हादसों में अब तक 30 लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें सबसे बड़ा हादसा मुंबई के मलाड़ इलाके में हुआ. यहां एक कपाउंड की दीवार गिरने से 18 लोगों की मौत हो गई. उधर, पुणे में भी एक ऐसे ही हादसे में छह मजदूर मारे गए. बीते दो दिनों में ही मुंबई में 540 मिलीमीटर बारिश हुई है. इस महानगर में बीते एक दशक की ये सबसे भारी बारिश है. इसके चलते सड़क औऱ रेल यातायात पर काफी असर पड़ा है. उधर, खराब मौसम की वजह से बीती रात स्पाइसजेट का एक विमान मुंबई एयरपोर्ट पर लैंडिंग के दौरान फिसलकर रनवे से बाहर चला गया. इसके बाद एयरपोर्ट बंद कर दिया गया और 54 उड़ानों का मार्ग बदल दिया गया. मौसम विभाग ने मुंबई और इसके आसपास के इलाकों में अगले 48 घंटे में और भी भारी बारिश की चेतावनी दी है.

आकाश विजयवर्गीय पर नरेंद्र मोदी – वे किसी के भी बेटे हों, ऐसे लोगों को पार्टी से निकाला जाए
भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे द्वारा एक अधिकारी की पिटाई के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सख्त टिप्पणी की है. उन्होंने कहा है कि ऐसी हरकत अस्वीकार्य है. उन्होंने कहा कि ऐसा करने वाला चाहे किसी का भी बेटा क्यों न हो, उसे पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाया जाना चाहिए. प्रधानमंत्री ने ये टिप्पणी दिल्ली में भाजपा संसदीय दल की एक बैठक में की. उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने इस हरकत का स्वागत किया है, उन्हें भी पार्टी में रहने का हक नहीं है. इस बैठक में कैलाश विजयवर्गीय भी शामिल थे. कुछ दिन पहले उनके बेटे और भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय ने इंदौर नगर निगम के एक अधिकारी के साथ क्रिकेट बैट से मारपीट की थी. इसके बाद उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था. फिलहाल उन्हें ज़मानत मिल चुकी है.

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.