बुधवार को इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच क्रिकेट विश्व कप प्रतियोगिता का 41वां मैच खेला गया. इस मुकाबले में न्यूजीलैंड पर 119 रनों के बड़े अंतर से जीत दर्ज करते हुए मेजबान इंग्लैंड ने भी इस विश्व कप के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है. ऑस्ट्रेलिया और भारत के बाद इस प्रतियोगिता के अंतिम चार में जगह बनाने वाला इंग्लैंड तीसरा देश है.

चेस्टर ले स्ट्रीट के मैदान पर खेले गए इस मैच में इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड के सामने जीत के लिए 306 रनों का लक्ष्य रखा था. एक दिनी क्रिकेट के लिहाज से इस बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए न्यूजीलैंड की पूरी टीम पारी के 45वें ओवर में मात्र 186 रन बनाकर धराशायी हो गई. न्यूजीलैंड की तरफ से टॉम लैथम ने सबसे ज्यादा 57 रन बनाए. 65 गेंदों पर खेली गई इस पारी में लैथम ने पांच चौके भी लगाए. वहीं किवी टीम के कप्तान केन विलियम्सन ने 40 गेंदों पर 27 तो रॉस टेलर ने 42 गेंदों का सामना करते हुए 28 रनों की पारी खेली.

इससे पहले टॉस जीतकर इंग्लैंड के कप्तान इयॉन मॉर्गन के पहले बल्लेबाजी करने के फैसले को उनके सलामी बल्लेबाजों ने सही साबित करके दिखाया. जेसन रॉय और जॉनी बेयरिस्टो की सलामी जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 123 रन जोड़े. जेसन रॉय ने 60 तो बेयरिस्टो ने 99 गेंदों पर 106 रनों की व्यक्तिगत पारी खेली. इस दौरान बेयरिस्टो ने 15 चौके और एक छक्का भी लगाया.

हालांकि सलामी बल्लेबाजों के बाद इंग्लैंड का मध्यक्रम लड़खड़ाता हुआ भी दिखाई दिया. लेकिन इयॉन मॉर्गन के 40 गेंदों पर 42 तो लियाम प्लंकेट ने 15, आदिल राशिद के 16 और बेन स्टोक्स के 11 रनों के योगदान के जरिये मेजबान टीम आठ विकेट खोकर 305 रन बनाने में सफल रही. वहीं जॉनी जेयरिस्टो के शानदार सैकड़े के लिए उन्हें मैच के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के पुरस्कार से भी नवाजा गया.

गेंदबाजी के लिहाज से देखें तो इंग्लैंड के मार्क वुड इसे मैच में सबसे सफल गेंदबाज रहे. उन्होंने नौ ओवरों में 34 रन देकर तीन विकेट हासिल किए. इंग्लैंड के क्रिस वोक्स, जोफ्रा आर्चर, लियाम प्लंकेट, आदिल राशिद और बेन स्टोक्स के खाते में एक-एफ सफलता आई. वहीं न्यूजीलैंड की तरफ से जिमी निशाम, ट्रेंट बोल्ट और मैट हेनरी को ने विरोधी टीम के दो-दो विकेट चटकाए तो टिम साउदी और मिशेल सैंटनर ने एक-एक बल्लेबाज को आउट किया.