कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने राहुल गांधी के पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी हमेशा उनके नेता रहेंगे. पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और राहुल गांधी की मां सोनिया गांधी के विशेष सलाहकार रहे अहमद पटेल ने पार्टी के बाकी नेताओं को भी लोकसभा चुनाव में मिली हार की जिम्मेदारी लेने का कहा.

अहमद पटेल बुधवार की रात ट्विटर के जरिये अपनी बात रखी. इनमें उन्होंने लिखा, ‘राहुल जी का इस्तीफा दुर्भाग्यपूर्ण है. इस हार के लिए हम सभी जिम्मेदार हैं. उन्होंने कम वक्त में ही पार्टी में जबर्दस्त योगदान दिया है और हम सभी मानते हैं कि उनका प्रयास आगे भी चलना चाहिए.’ इसके बाद अहमद पटेल ने राहुल गांधी के लिए ट्वीट किया, ‘वे मेरे और हमारे नेता हैं और हमेशा रहेंगे और कांग्रेस को मजबूत करने का काम करते रहेंगे.’

इससे पहले 49 वर्षीय राहुल गांधी ने आम चुनावों में मिली हार की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि वे अब कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष नहीं हैं. इसके साथ ही राहुल ने कहा कि कांग्रेस को अपना नया अध्यक्ष चुनने में अब और देर नहीं करनी चाहिए. उनका यह भी कहना था कि वे इस प्रक्रिया का हिस्सा नहीं हैं क्योंकि उन्होंने पहले ही इस्तीफा दे दिया है. राहुल गांधी ने ये बातें एक चिट्ठी में कहीं. इसमें उन्होंने लिखा है कि वे अब पार्टी के मुखिया नहीं हैं और कांग्रेस को जल्द अपनी वर्किंग कमेटी की बैठक बुलानी चाहिए.