केंद्र की नई नरेंद्र मोदी सरकार कुछ ही देर में अपना पहला बजट पेश करेगी. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण कुछ ही देर पहले बजट की कॉपी लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास गईं और फिर संसद पहुंचीं. इस दौरान उनके हाथ में सूटकेस नहीं था. उसकी जगह निर्मला सीतारमण ने लाल कपड़े में बजट की कॉपी रखी हुई थी. अभी तक बजट की कॉपी सूटकेस में ले जाने की परंपरा रही है. लेकिन आज यह परंपरा टूट गई.

सोशल मीडिया पर जारी हुई तस्वीरों में वित्त मंत्री को लाल कपड़े में बंधी बजट की कॉपी के साथ देखा जा सकता है. यह कपड़ा (या थैला) लाल रंग के धागे से बंधा हुआ है और इस पर अशोक चिह्न लगा देखा जा सकता है. वित्त मंत्री के इस तरह बजट कॉपी ले जाने का मुख्य आर्थिक सलाहकार (सीईए) कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यन ने समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि यह भारतीय परंपरा का हिस्सा और पश्चिमी विचारों की गुलामी से निकलने का प्रतीक है. सीईए ने यह भी कहा कि यह बजट नहीं, बल्कि बही-खाता है.

इससे पहले बुधवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2018-19 का आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया. इसमें सरकार ने चालू वित्त वर्ष (2019-20) में आर्थिक वृद्धि दर सात प्रतिशत रहने का अनुमान लगाया. सर्वेक्षण के मुताबिक पिछले वित्त वर्ष में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर पांच साल के न्यूनतम स्तर 6.8 प्रतिशत रही थी. सर्वे में यह भी कहा गया कि भारत को 2025 तक पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लिए हर साल आठ प्रतिशत जीडीपी वृद्धि दर प्राप्त करनी होगी.