केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2019-20 का बजट पेश कर दिया है. संसद में आज रखे बजट प्रस्तावों में उन्होंने टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया. लेकिन उन्होंने कई ऐसे प्रस्ताव रखे हैं जिससे आम आदमी से जुड़ी कई चीजें सस्ती तो वहीं कुछ चीजें महंगी भी हो जाएंगी.

बजट भाषण के दौरान निर्मला सीतारमण ने पेट्रोल-डीजल पर एक-एक रुपये का सेस लगाने का प्रस्ताव रखा इससे ये दोनों ईंधन महंगे हो जाएंगे. वहीं सोने और दूसरी बहुमूल्य धातुओं के आयात पर सीमा शुल्क 10 फीसदी से बढ़ाकर 12.5 फीसदी करने की घोषणा भी की जिससे इनका महंगा होना भी तय है. इसी तरह आयातित ऑटो पार्ट, सिंथेटिक रबर, टाइल्स, पीवीसी, सीसीटीवी और डिजिटल वीडियो कैमरा भी महंगा होगा. हर बार की तरह इस बार भी सिगरेट और दूसरे तंबाकू उत्पादों के दामों में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी.

वहीं केंद्रीय वित्त मंत्री ने इलेक्ट्रिक कारों पर लगने वाले 12 फीसदी के वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) को घटाकर पांच फीसदी करने की घोषणा भी की है. उनके इस प्रस्ताव से इन कारों के दाम घटेंगे. इसके अलावा रक्षा उपकरण और चमड़े के सामान के साथ ही रोजमर्रा के इस्तेमाल की चीजें जैसे बालों का तेल, शैंपू, दंत मंजन, पंखे, लैंप, बांस से बना फर्नीचर बगैरह सस्ते होंगे. घर की रसोई के लिहाज से बर्तन, नमकीन, बोतल और कंटेनर जैसी चीजें भी सस्ती होंगी.

बजट की ताजा घोषणाओं के मुताबिक अब अपना मकान खरीदना भी सस्ता होगा. क्योंकि निर्मला सीतारमण ने 45 लाख रुपये तक के आवास ऋण के ब्याज पर मिलने वाली छूट को दो लाख रुपये से बढ़ाकर साढ़े तीन लाख रुपये करने की घोषणा भी की है.