सरकार को चालू वित्त वर्ष में भारतीय रिजर्व बैंक से लाभांश के रूप में 90,000 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है. वित्त सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने शुक्रवार को कहा, ‘रिजर्व बैंक का लाभांश उसकी वार्षिक बैठक के बाद आएगा. सरकार को रिजर्व बैंक से 90,000 करोड़ रुपये लाभांश मिलने की उम्मीद है.’

सरकार इस बार रिजर्व बैंक से जितने लाभांश की उम्मीद कर रही है, वह पिछले वित्त वर्ष में रिजर्व बैंक द्वारा दिए गए 68,000 करोड़ रुपये के लाभांश से 32 प्रतिशत अधिक है. इसमें 28,000 करोड़ रुपये का अंतरिम लाभांश भी शामिल था. पिछले वित्त वर्ष में रिजर्व बैंक द्वारा केंद्र सरकार को अब तक का सबसे अधिक लाभांश दिया गया था. इससे पहले वित्त वर्ष 2015-16 में रिजर्व बैंक ने 65,896 करोड़ रुपये और 2017-18 में 40,659 करोड़ रुपये का लाभांश सरकार को दिया था.

रिजर्व बैंक वित्त वर्ष जुलाई से जून के बीच मानता है. आमतौर पर अपना वार्षिक हिसाब-किताब करने के बाद आरबीआई अगस्त में लाभांश की घोषणा करता है.