दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को शहर के सभी सरकारी स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए एक परियोजना की शुरूआत की है. साथ ही उन्होंने इस परियोजना को एक ऐतिहासिक कदम बताया है. अरविंद केजरीवाल ने लाजपत नगर में एक विद्यालय में इस परियोजना की शुरुआत करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार के 1000 से अधिक स्कूलों में इस साल नवंबर तक सीसीटीवी कैमरे लग जाएंगे.

अरविंद केजरीवाल ने बताया है कि निजी स्कूलों को पहले ही सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दे दिए गए हैं. पीटीआई के मुताबिक इस मौके पर मुख्यमंत्री का कहना था, ‘यह देश और दुनिया में स्कूली शिक्षा में एक ऐतिहासिक मील का पत्थर है क्योंकि कक्षा से अभिभावकों के मोबाइल फोन पर एक ऐप के जरिये सीधा प्रसारण किया जाएगा.’

इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री ने इन चिंताओं को खारिज किया कि सीसीटीवी कैमरे स्कूली बच्चों की निजता का उल्लंघन करेंगे. उन्होंने कहा है, ‘बच्चे शिक्षा हासिल करने के लिए स्कूल जाते हैं, वहां अनुशासन सीखते हैं और देश के अच्छे नागरिक बनते हैं... वे वहां कुछ भी निजी काम करने नहीं जाते.’ उन्होंने आगे कहा कि इस पहल से दिल्ली के सरकारी स्कूलों के परिणाम में सुधार करने में मदद मिलेगी. केजरीवाल के मुताबिक यह व्यवस्था सरकार की लोगों के प्रति सीधी जिम्मेदारी सुनिश्चित करेगी.

दिल्ली सरकार की इस परियोजना के मुताबिक सरकारी स्कूलों की हर कक्षा में दो सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे. इसके अलावा वॉशरूम छोड़कर स्कूल परिसर में भी कैमरे लगेंगे. इनकी लाइवफीड से जुड़ा एक एप होगा. इस एप को अपने मोबाइल फोन में डाउनलोड करने के बाद अभिभावक यह देख पाएंगे कि संबंधित स्कूल और कक्षा में क्या गतिविधियां चल रही हैं.