सोमवार को 793 अंकों की गिरावट के साथ बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स 38,720.57 के स्तर पर बंद हुआ. बीएसई की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी में भी 252.55 अंकों की गिरावट दर्ज की गई और यह 11,558.60 के स्तर पर बंद हुआ. खबरों के मुताबिक शेयर बाजार के जानकारों ने इस बड़ी गिरावट के पीछे बजट प्रस्तावों को जिम्मेदार बताया है.

विशषज्ञों का कहना है कि बीते शुक्रवार को केंद्रीय वित्त मंत्री ने निर्मला सीतारण ने बजट में विदेशी निवेशकों पर अधिक कर लगाने का प्रस्ताव रखा है. इसके अलावा बजट में सभी सूचीबद्ध कंपनियों के लिए न्यूतनम सार्वजनिक हिस्सेदारी बढ़ाने का प्रस्ताव भी इस पर नकारात्मक असर डाल रहा है.

इससे पहले बीते शुक्रवार को भी वित्त मंत्री के भाषण के दौरान शेयर बाजार पर नकारात्मक असर दिखाई दिया था. उस दिन भी सेंसेक्स 394.67 अंकों की गिरावट के साथ 39,513.39 के स्तर पर बंद हुआ था. वहीं निफ्टी में 135.60 अंकों की गिरावट आई थी और वह 11,811.20 के स्तर पर बंद हुआ था.

इधर, सोमवार को बीएसई में बैंकिंग से लेकर ऑटो सेक्टर के शेयरों में बिकवाली का माहौल दिखा. मारुति के शेयरों में पांच फीसदी की कमी ​आई. वहीं पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के साथ भूषण पावर एंड स्टील की 3,800 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की खबर आने के बाद इस बैंक के शेयरों में भी बिकवाली हावी रहे. आज पीएनबी का शेयर 11 प्रतिशत लुढ़का.

वहीं एनएससी में बजाज फाइनेंस के शेयर में 7.77 प्रतिशत तो ऑयल एंड नैचुरल गैस (ओएनजीसी) के शेयर में 5.57, हीरो मोटोकॉर्प में 5.26 जबकि नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) के शेयर में 5.35 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई.