‘राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद कांग्रेस भटकाव के दौर से गुजर रही है.’  

— कर्ण सिंह, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता

कर्ण सिंह ने यह बात एक बयान जारी करके कही. इसी बयान के जरिये उन्होंने इसे निराशाजनक भी बताया. साथ ही कहा, ‘राहुल गांधी ने 25 मई को कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने का साहसिक फैसला किया था. लेकिन उनके इस फैसले का सम्मान करने के बजाय पार्टी नेताओं ने उनसे इस्तीफा वापस लेने का आग्रह करने में एक माह का समय बर्बाद कर दिया.’ इसके साथ ही कर्ण सिंह ने यह भी कहा, ‘पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) को बैठक बुलानी चाहिए. साथ ही नया अध्यक्ष चुने जाने तक पार्टी के लिए एक कार्यकारी अध्यक्ष की नियुक्ति की जानी चाहिए.’

‘कर्नाटक सरकार पर कोई संकट नहीं है.’  

— एचडी कुमारस्वामी, कर्नाटक के मुख्यमंत्री

एचडी कुमारस्वामी ने यह बात कर्नाटक में कांग्रेस और जनता दल सेक्यूलर (जेडीएस) के 13 विधायकों के इस्तीफे को लेकर कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘मौजूदा राजनीतिक संकट को लेकर मुझे किसी तरह की कोई हड़बड़ी नहीं है.’ एचडी कुमारस्वामी के मुताबिक, ‘राज्य के मौजूदा राजनीतिक संकट का हल निकाल लिया जाएगा और कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन सरकार आराम से चलेगी.’


‘भारतीय जनता पार्टी लोकतंत्र की हत्या कर रही है.’  

— अधीर रंजन चौधरी, लोकसभा में कांग्रेस के नेता

अधीर रंजन चौधरी ने यह बात कर्नाटक के सियासी संकट को लेकर लोकसभा में अपने संबोधन के दौरान कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकारें हैं, उन्हें गिराने के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) गुप्त तरीके से साजिश रच रही है. भाजपा नहीं चाहती कि कहीं भी विपक्षी दल की सरकार रहे.’ इसके साथ ही उनका यह भी कहना था कि संसद में भाजपा के 303 सांसद हैं. फिर भी आपका (भाजपा) ‘पेट नहीं भरा’.


‘कर्नाटक के राजनीतिक घटनाक्रम से भाजपा का कोई लेना-देना नहीं है.’  

— राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री

राजनाथ सिंह ने यह बात लोकसभा में अधीर रंजन चौधरी के बयान पर पलटवार करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘भाजपा खरीद-फरोख्त की राजनीति में विश्वास नहीं करती.’ इसके साथ ही कर्नाटक के विधायकों के इस्तीफे के बहाने राजनाथ सिंह ने राहुल गांधी पर भी तंज कसा और कहा, ‘कांग्रेस में इस्तीफे की शुरुआत खुद राहुल गांधी ने की थी. उनके इस्तीफा होने के बाद से ही पार्टी के बड़े-बड़े नेता अपने-अपने पदों को छोड़ रहे हैं.’


‘महेंद्र सिंह धोनी की सलाह मेरे लिए खरे सोने जैसी है.’  

— विराट कोहली, भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान

विराट कोहली ने यह बात इसी मंगलवार को होने वाले क्रिकेट विश्व कप प्रतियोगिता के सेमीफाइनल से पहले एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘महेंद्र सिंह धोनी ने लंबे समय तक कप्तानी की है. जब मैं उनसे कुछ पूछता हूं तो वे सलाह जरूर देते हैं. सबसे बड़ी बात यह कि वे अपनी बातें थोपते नहीं.’ इसी मौके पर कल के मैच के लिए विराट कोहली ने यह भी कहा, ‘टीम के खिलाड़ी आत्मविश्वास से परिपूर्ण हैं. सभी को इस बात की खुशी है कि हम सेमीफाइनल में हैं.’ यहां भारतीय कप्तान का यह भी कहना था कि जो टीम जज्बा दिखाएगी उसके जीतने के अवसर निश्चित रूप से ज्यादा होंगे.