केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा है कि पाकिस्तान के आतंकी शिविरों पर सर्जिकल स्ट्राइक किए जाने के बाद सीमा पार से होने वाली घुसपैठ में 43 फीसदी की कमी आई है. उन्होंने यह बात जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ को लेकर पूछे गए ​एक लिखित सवाल का जवाब देते हुए लोकसभा में कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘साल 2018 की पहली छमाही के मुकाबले इस साल की इसी अवधि के दौरान हुए इस सुधार में सुरक्षा बलों के ठोस और समन्वित प्रयासों की भी अहम भूमिका रही है.’

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘राज्य में घुसपैठ को लेकर जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई जा रही है. इसके अलावा घुसपैठ रोकने के लिए कई अन्य उपाय भी किए गए है. इसके तहत अतंरराष्ट्रीय सीमा, नियंत्रण रेखा, वास्तविक नियंत्रण रेखा पर बाड़ लगाने के साथ बहुआयामी निगरानी प्रणाली की तैनाती भी की गई है.’

इसी दौरान एक अन्य सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने यह भी कहा कि भारत-पाकिस्तान नियंत्रण रेखा पर इसी क्रम में बिजली के प्रवाह वाली बाड़ लगाई गई है. इसे घुसपैठ विरोधी बाधा प्रणाली (एआईआएस) के नाम से जाना जाता है. घुसपैठ रोकने में यह भी काफी सहायक रही है. उन्होंने आगे कहा, ‘इस बाड़ तक बिजली संयंत्रों के अलावा जेनरेटरों के जरिये निर्बाध रूप से बिजली की आपूर्ति की जाती है.’