भारतीय कप्तान विराट कोहली ने विश्व कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों मिली हार के लिये मुख्य रूप से शीर्ष क्रम की नाकामी को जिम्मेदार ठहराया है. साथ ही उन्होंने कहा है कि 45 मिनट के खराब खेल के कारण टूर्नामेंट में शुरू से की गयी कड़ी मेहनत पर पानी फिर गया.

पीटीआई के मुताबिक विराट कोहली ने मैच के बाद मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, ‘जब आप पूरे टूर्नामेंट में अच्छा खेलते हो और फिर 45 मिनट की खराब क्रिकेट के कारण बाहर हो जाते हो तो बहुत बुरा लगता है. इसे पचा पाना मुश्किल है लेकिन न्यूजीलैंड को श्रेय जाता है.’

उन्होंने कहा, ‘हमने बहुत अच्छी गेंदबाजी की. हमारे सामने जो लक्ष्य था उसे हासिल किया जा सकता था, लेकिन पहले आधे घंटे में उन्होंने जिस तरह से गेंदबाजी की उससे अंतर पैदा किया. न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को श्रेय जाता है. उन्होंने वास्तव में नयी गेंद से बेहतरीन गेंदबाजी की.’

कोहली ने भारतीय गेंदबाजों और रविंद्र जडेजा की तारीफ करते हुए कहा, ‘हम जानते थे कि कल का दिन हमारे लिये अच्छा था और हमें उस पर गर्व है. जडेजा ने पिछले दो मैचों में शानदार प्रदर्शन किया. वह बेहद स्पष्ट रवैये के साथ क्रीज पर उतरा था. धोनी के साथ उसने अच्छी साझेदारी निभायी.’

कोहली के मुताबिक इस मैच में भारतीय बल्लेबाजों का शाट चयन बेहतर हो सकता था, लेकिन न्यूजीलैंड ने महत्वपूर्ण क्षणों में साहसिक खेल दिखाया और वे जीत के हकदार बने.

बारिश की वजह से दो दिन चले विश्व कप के पहले सेमीफाइनल मुकाबले में न्यूजीलैंड ने भारत के सामने 240 रन का लक्ष्य रखा था, लेकिन उसका शीर्ष क्रम लड़खड़ा गया. दस ओवर के बाद भारत का स्कोर चार विकेट पर 24 रन था और आउट होने वाले बल्लेबाजों में रोहित शर्मा और विराट कोहली भी शामिल थे. इसके बाद रविंद्र जडेजा (77) और महेंद्र सिंह धोनी (50) ने उम्मीद जगायी, लेकिन भारत 221 रन ही बना सका.