उत्तराखंड में भाजपा विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने उनसे जुड़े एक वीडियो पर हुए हंगामे के बाद सफाई दी है. उन्होंने कहा कि यह उनकी प्राइवेसी में दखल है और इस वीडियो के साथ छेड़छाड़ भी हुई है. भाजपा विधायक का यह भी कहना था कि उन्होंने उन गालियों का प्रयोग भी नहीं किया जो वीडियो में सुनाई दे रही हैं.

प्रणव सिंह चैंपियन इस वीडियो में तमंचे और कार्रबाइन लेकर नाचते भी दिखे थे. इस पर उन्होंने कहा कि इन सभी हथियारों का उनके पास लाइसेंस है. भाजपा विधायक के मुताबिक इन बंदूकों में उस वक्त गोलियां भी नहीं थीं. उनका यह भी कहना था कि बंदूकों के साथ नाचने में कुछ भी गलत नहीं है और वे बचपन से बंदूकों से खेलते रहे हैं.

प्रणव सिंह चैंपियन ने मीडिया पर उनकी सिर्फ नकारात्मक छवि पेश करने का आरोप लगाया. उनका कहना था कि 53 साल की उम्र में वे देश के सबसे फिट जनप्रतिनिधि हैं. भाजपा विधायक ने चुनौती दी कि उन्हें एक भी ऐसा विधायक दिखाया जाए तो इस उम्र में उनसे फिट हो. उनका आरोप है कि मीडिया कभी उनकी अच्छी बातें नहीं दिखाता.

फिलहाल भाजपा ने उन्हें कारण बताओ नोटिस भेज दिया है. पार्टी की राज्य इकाई ने केंद्रीय नेतृत्व से उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की सिफारिश भी की है. भाजपा के उत्तराखंड प्रभारी श्याम जाजू ने कहा, ‘भाजपा में जनप्रतिनिधियों के लिए सार्वजनिक व्यवहार के कुछ नियम हैं और एक अनुशासित पार्टी होने के नाते हम अपने सिद्धांतों से कोई समझौता नहीं कर सकते.’ पार्टी के ही एक अन्य नेता अनिल बलूनी ने कहा कि प्रणव सिंह चैंपियन के खिलाफ पहले भी इस तरह की शिकायतें आ चुकी हैं जिसके चलते पहले ही वे तीन महीने का निलंबन झेल रहे हैं.