पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कर्नाटक और गोवा जैसे राज्यों की राजनीतिक अस्थिरता के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को जिम्मेदार ठहराया है. साथ ही उन्होंने कहा है कि इस अस्थिरता से विदेश निवेशकों के बीच भय का माहौल बनेगा जिससे अर्थव्यवस्था प्रभावित होगी. पी चिदंबरम ने यह बात गुरुवार को राज्यसभा में आम बजट पर परिचर्चा के दौरान दिए अपने भाषण में कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘विदेशी निवेशक, रेटिंग एजेंसियां और अंतरराष्ट्रीय संगठन भारतीय मीडिया पर ध्यान नहीं देते. वे सिर्फ भारत की राजनीतिक अस्थिरता को देखते हैं जिसका असर अर्थव्यवस्था पर पड़ता है.’

पी चिदंबरम ने आगे कहा, ‘मेरी ख्वाहिश थी कि मैं सदन में अपनी बातें एक खुशनुमा माहौल में रखूं लेकिन मैं खुश नहीं हूं, क्योंकि क्रिकेट विश्व कप के सेमीफाइनल में कल भारत हार गया. लेकिन मैं इससे भी ज्यादा दुखी इसलिए हूं क्योंकि देश का लोकतंत्र दिन-प्रतिदिन कमजोर हो रहा है.’

इसके साथ ही पूर्व वित्त मंत्री ने लगातार बढ़ती बेरोजगारी की तरफ भी सरकार का ध्यान आकर्षित किया. उन्होंने कहा कि वे इसके लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को जिम्मेदार नहीं ठहरा रहे हैं. लेकिन उन्हें इस हकीकत का सामना तो करना ही होगा. साथ ही इस समस्या के समाधान के लिए उन्हें साहसिक फैसले भी करने होंगे.