क्रिकेट विश्व कप प्रतियोगिता के दूसरे सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को जीत के लिए 224 रनों का लक्ष्य दिया है. बर्मिंघम में एजबेस्टन के मैदान पर खेले जा रहे इस मैच में ऑस्ट्रेलियाई कप्तान आरॉन फिंच ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. हालांकि उनका यह फैसला तब गलत साबित होता प्रतीत हुआ जब कंगारू टीम को पारी के शुरुआती छह ओवरों में ही तीन झटके लगे. तब उसका स्कोर महज 14 रन ही था.

ऑस्ट्रेलिया का पहला विकेट कप्तान आरॉन फिंच के तौर पर गिरा. जोफ्रा आर्चर ने उन्हें एलबीडब्ल्यू आउट कराया. फिंच इस मैच में अपना खाता भी नहीं खोल सके. फिर तीसरे ही ओवर में डेविड वॉर्नर (9) को जॉनी बेयरिस्टो ने क्रिस वोक्स की गेंद पर लपक लिया. वहीं पीटर हैंड्सकाम्ब (4) को क्रिस वोक्स ने बोल्ड आउट किया. लेकिन टीम के मध्यक्रम के बल्लेबाज स्टीव स्मिथ और एलेक्स कैरी ने ऑस्ट्रेलिया की लड़खड़ाई पारी को संभालने का काम किया. चौथे विकेट के लिए दोनों बल्लेबाजों ने 103 रन की साझेदारी निभाई और टीम का स्कोर 117 तक पहुंचाया. तभी आदिल रशीद की एक गेंद पर कैच थमाकर एलेक्स कैरी (46) भी पैवेलियन लौट गए.

कैरी के आउट होने के बाद मैदान पर आए मार्कस स्टोइनिस भी अपना खाता खोल पाने में असफल रहे. उन्हें भी आदिल रशीद ने एलबीडब्ल्यू आउट किया. वहीं ग्लेन मैक्सवेल ने 23 गेंदों पर 22 रनों की पारी खेली तो पैट कमिंस ने 10 गेंदों पर छह रन बनाए. मिशेल स्टार्क ने 36 गेंदो पर 29 रनों का योगदान दिया. स्टीव स्मिथ ने अपनी टीम की तरफ से सबसे ज्यादा 85 रन बनाए. उन्हें जोस बटलर ने रन आउट कराया जबकि जेसन बेहरनडार्फ और नाथन लियोन कुछ विशेष नहीं कर सके. इस तरह ऑस्ट्रेलिया की पूरी टीम अपनी पारी के 49वें ओवर में 223 रन बनाकर सिमट गई.

गेंदबाजी के लिहाज से इंग्लैंड की तरफ से क्रिस वोक्स सबसे किफायती साबित हुए. अपने आठ ओवरों में उन्होंने 20 रन खर्च करके तीन विकेट हासिल किए. आदिल रशीद के खाते में भी तीन विकेट आईं लेकिन अपने कोटे के दस ओवरों में उन्होंने 54 रन लुटाए. जोफ्रा आर्चर को दो सफलताएं मिलीं और एक विकेट मार्क वुड के खाते में गया.