​क्रिकेट विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया पर आठ विकेट से जीत दर्ज करते हुए इंग्लैंड ने इस प्रतियोगिता फाइनल में प्रवेश कर लिया है. अब आगामी 14 जुलाई को इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच खिताबी भिडंत होगी. बर्मिंघम में एजबेस्टन के मैदान पर खेले गए आज के मैच में कंगारू टीम ने मेजबान टीम को जीत के लिए 224 रनों का लक्ष्य दिया था जिसे उसने पारी के 33वें ओवर में हासिल कर लिया.

एकदिनी क्रिकेट के लिहाज से इस आसान स्कोर का पीछा करते हुए इंग्लैंड को उसके सलामी बल्लेबाजों जेसन रॉय और जॉनी बेयरिस्टो (34) ने मजबूत शुरुआत दिलाई. पहले विकेट के लिए दोनों बल्लेबाजों ने 124 रन जोड़े. वहीं जेसन रॉय ने ताबड़-तोड़ अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए 65 गेंदों पर 85 रन बनाए. अपनी इस शानदार पारी में उन्होंने नौ चौके और पांच छक्के भी लगाए. वहीं सलामी बल्लेबाजोंं के आउट होने के बाद क्रीज पर पहुंचे जो रूट (25) और इंग्लैंड के कप्तान इयॉन मॉर्गन (10) ने टीम को जीत दिलाने के बाद ही पैवेलियन का रुख किया.

इससे पहले इस मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान आरॉन फिंच ने टॉस जीतकर पहले बल्ला उठाया. लेकिन उनका यह फैसला तब गलत साबित हुआ जब कंगारू टीम ने अपने तीन विकेट महज 14 के स्कोर पर गंवा दिए. हालांकि मध्यक्रम के बल्लेबाज स्टीव स्मिथ और एलेक्स कैरी (46) ने लड़खड़ाई पारी को संभाला. साथ ही चौथे विकेट के लिए दोनों ने 103 रन की साझेदारी निभाई और स्कोर 117 तक पहुंचाया. लेकिन एलेक्स कैरी ने भी 28वें ओवर में कैच थमाकर पैवेलियन की राह नाप ली.

कैरी के आउट होने के बाद मैदान पर आए मार्कस स्टोइनिस अपना खाता भी नहीं खोल पाए. वहीं ग्लेन मैक्सवेल ने 23 गेंदों पर 22 तो पैट कमिंस ने 10 गेंदों पर छह रन बनाए. मिशेल स्टार्क ने 36 गेंदों पर 29 रनों का योगदान दिया जबकि जेसन बेहरनडार्फ और नाथन लियोन कुछ विशेष नहीं कर सके. ऑस्ट्रेलिया की तरफ से स्टीव स्मिथ ने सबसे ज्यादा 85 रन बनाए. उन्हें जोस बटलर ने रन आउट कराया.

गेंदबाजी के लिहाज से इस मैच में इंग्लैंड के क्रिस वोक्स ने सबसे शानदार प्रदर्शन किया. किफायती गेंदबाजी करते हुए उन्होंने अपने आठ ओवरों में उन्होंने 20 रन खर्च करके तीन विकेट झटके. इस लाजवाब प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच के पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया. वहीं इंग्लैंड के आदिल रशीद ने भी तीन विकेट चटकाए जबकि जोफ्रा आर्चर को दो तो मार्क वुड को एक सफलता मिली. उधर, ऑस्ट्रेलिया की तरफ से मिशेल स्टार्क और पैट कमिंस इंग्लैंड के एक-एक बल्लेबाज को पैवेलियन लौटाने में सफल रहे.