‘भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार ने अमीरों के तो करोड़ों के कर्ज माफ किए पर किसानों के लिए कुछ नहीं किया.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस के नेता

राहुल गांधी ने यह बात लोकसभा में शून्यकाल के दौरान किसानों की बदहाली का मुद्दा उठाते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘बीते दिनों मेरे संसदीय क्षेत्र वायनाड में कर्ज में डूबे एक किसान ने आत्महत्या कर ली थी. इसके अलावा वायनाड में किसानों द्वारा कर्ज न चुकाए जा पाने से बैंकों ने अब उनकी संपत्तियां जब्त करनी भी शुरू कर दी हैं. इससे वहां 18 किसान आत्महत्या कर चुके हैं.’ राहुल गांधी ने आगे कहा, ‘मेरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुजारिश है कि वे किसानों की दशा सुधारने के प्रति गंभीर कदम उठाएं.’

‘किसानों की बदहाली के लिए कांग्रेस की पूर्ववर्ती सरकारें जिम्मेदार हैं.’  

— राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री

राजनाथ सिंह ने यह बात लोकसभा में राहुल गांधी के किसानों को लेकर दिए गए बयान पर पलटवार करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘किसानों मौजूदा स्थिति बीते पांच सालों के दौरान नहीं हुई. जहां तक मोदी सरकार का सवाल है तो उसके कार्यकाल में किसानों की आय में 20-25 फीसदी का इजाफा हुआ है.’ इसके साथ ही राजनाथ सिंह का यह भी कहना था, ‘मोदी सरकार ने फसलों का समर्थन मूल्य बढ़ाया है. किसान सम्मान निधि योजना से भी उनकी मदद की जा रही है. साथ ही सरकार किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में भी प्रयासरत है.’


‘कर्नाटक और गोवा की राजनीतिक अस्थिरता देश की अर्थव्यवस्था को भी प्रभावित करेगी.’  

— पी चिदंबरम, पूर्व वित्त मंत्री

पी चिदंबरम ने यह बात राज्यसभा में बजट पर परिचर्चा के दौरान दिए अपने संबोधन में कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘विदेशी निवेशक, रेटिंग एजेंसियां और अंतरराष्ट्रीय संगठन भारतीय मीडिया पर ध्यान नहीं देते. वे सिर्फ भारत की राजनीतिक अस्थिरता को देखते हैं. अस्थिरता की वजह से निवेशकों में भय का माहौल बनता है जिसका असर अर्थव्यवस्था पर पड़ता है.’ इसी मौके पर पी चिदंबरम ने बेरोजगारी की तरफ भी सरकार का ध्यान दिलाया. साथ ही कहा, ‘सरकार को इस हकीकत का सामना करना होगा और इसके निदान के लिए उसे साहसिक फैसले भी करने होंगे.’


‘अयमान अल जवाहिरी की धमकी को गंभीरता से लेने की जरूरत नहीं है.’  

— रवीश कुमार, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता

रवीश कुमार ने यह बात एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘ऐसी कोरी धमकियां हम रोज सुनते हैं.’ इसी मौके पर रवीश कुमार का यह भी कहना था, ‘भारतीय सुरक्षा बलों के पास पर्याप्त संसाधन हैं. साथ ही वे देश की क्षेत्रीय अखंडता और संप्रभुता को बनाए रखने में सक्षम है.’ इससे पहले इसी बुधवार को अलकायदा के सरगना अयमान अल जवाहिरी ने एक वीडियो जारी करके कश्मीर में मुजाहिद्दीनों से भारतीय सेना और सरकार पर हमले जारी रखने को कहा था.


‘इस्तीफों के स्वैच्छिक और वास्तविक होने की जांच करनी होगी.’  

— केआर रमेश कुमार, कर्नाटक विधानसभा के अध्यक्ष

केआर रमेश कुमार ने यह बात कर्नाटक के कांग्रेस और जनता दल सेक्यूलर (जेडीएस) के बागी विधायकों के साथ मुलाकात करने के बाद कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘इन इस्तीफों को सही प्रारूप में होना चाहिए था. लेकिन पिछले हफ्ते मेरे कार्यालय में जो 13 पत्र आए उनमें से आठ सही प्रारूप में नहीं थे.’ उनका यह भी कहना था कि प्रदेश की मौजूदा राजनीतिक परिस्थिति के लिए वे जिम्मेदार नहीं हैं.