कर्नाटक में सियासी संकट से जूझ रहे मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने उनकी पार्टी जेडीएस के भाजपा से गठबंधन की खबरों को खारिज किया है. ये खबरें तब आईं जब जेडीएस नेता और राज्य के पर्यटन मंत्री एसआर महेश भाजपा के कर्नाटक प्रभारी मुरलीधर राव से मिले. मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी का कहना है कि कर्नाटक राज्य पर्यटन विकास निगम के जिस गेस्ट हाउस में यह मुलाकात हुई वहां नेताओं का आना-जाना लगा रहता है और संयोगवश हुई इस अनौपचारिक मुलाकात से कोई कयास नहीं लगाए जाने चाहिए. उनका कहना था कि जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन मजबूत है और उसकी सरकार प्रभावी तरीके से काम करती रहेगी.

कर्नाटक में अब सबकी नजरें आज से शुरू हुई विधानसभा सत्र पर हैं. अब तक कुल 16 विधायक एचडी कुमारस्वामी सरकार का साथ छोड़ चुके हैं. हालांकि विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार ने कहा है कि वे इन विधायकों के इस्तीफे मंजूर करने में जल्दबाजी नहीं करेंगे और संविधान के हिसाब से फैसला करेंगे. वे यह भी कह चुके हैं आठ बागी विधायकों के इस्तीफे नियमों के अनुरूप नहीं हैं. उधर, सुप्रीम कोर्ट ने उनसे कल ही इन इस्तीफों पर फैसला करने को कहा था. इसके खिलाफ रमेश कुमार ने शीर्ष अदालत में याचिका लगाई थी जिस पर आज सुनवाई होगी. दूसरी तरफ विपक्षी भाजपा का कहना है कि एचडी कुमारस्वामी की सरकार अल्पमत में आ चुकी है और इसलिए उन्हें कुर्सी छोड़ देनी चाहिए. उसने राज्यपाल से सरकार को बर्खास्त करने की मांग भी की है.