गोवा में सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल होने वाले कांग्रेस के तीन असंतुष्ट विधायकों समेत चार विधायकों को शनिवार को राज्य मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा. पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से यह खबर दी है. विपक्ष के नेता चंद्रकांत कावलेकर के नेतृत्व में 15 कांग्रेस विधायकों में से 10 बुधवार को भाजपा में शामिल हो गए थे. उन्होंने मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के साथ बृहस्पतिवार को नयी दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा से मुलाकात की थी.

भाजपा के एक शीर्ष सूत्र ने बताया कि 10 पूर्व कांग्रेस विधायकों में से तीन और विधानसभा के उपाध्यक्ष माइकल लोबो शनिवार को मंत्री पद की शपथ लेंगे. हालांकि उन्होंने उन तीन पूर्व कांग्रेस विधायकों के नाम नहीं बताए जिन्हें मंत्री पद मिलेगा. माइकल लोबो से संपर्क करने पर उन्होंने पुष्टि की कि वे और तीन अन्य विधायक सावंत के नेतृत्व वाले मंत्रिमंडल में शामिल होंगे. सूत्रों ने बताया कि माइकल लोबो ने ही 10 कांग्रेस विधायकों को पार्टी में शामिल होने के लिए राजी किया था.

नए विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल करने के लिए प्रमोद सावंत चार मंत्रियों को हटाएंगे जिनमें से ज्यादातर भाजपा के सहयोगी दल के सदस्य हैं. सूत्रों ने बताया कि गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के सभी तीन मंत्रियों को हटाए जाने की संभावना है. साथ ही निर्दलीय विधायक और राजस्व मंत्री रोहन खुंटे को भी हटाए जाने की संभावना है. जीएफपी के तीन मंत्रियों में उसके अध्यक्ष और उप मुख्यमंत्री विजय सरदेसाई, विनोद पालेकर और जयेश सालगांवकर शामिल है.

इस बीच चंद्रकांत कावलेकर ने कहा है कि उन्होंने भाजपा में शामिल होने का फैसला इसलिए लिया क्योंकि उनके विधानसभा क्षेत्र का इतने वर्षों में विकास नहीं हो पाया. उन्होंने कहा, ‘मैं लंबे समय से विपक्ष में था जिससे मेरे निर्वाचन क्षेत्र के विकास पर असर पड़ रहा था. मैंने यह कदम इसलिए उठाया क्योंकि भाजपा ऐसी पार्टी है जो विकास समर्थक है और जब मैं सत्ता में रहूंगा तो इससे मेरे क्षेत्र के लोगों को मदद मिलेगी.’