कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी ने विश्वासमत साबित करने की बात कही, सुप्रीम कोर्ट ने विधानसभा अध्यक्ष से कहा - बागी विधायकों पर 16 जुलाई तक कोई फैसला न करें

कर्नाटक में सियासी उथल-पुथल जारी है. आज विधानसभा सत्र की शुरुआत में ही मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने विश्वासमत प्रस्ताव पेश करने की बात कही. उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार से इसके लिए समय तय करने का अनुरोध किया. एचडी कुमारस्वामी ने भरोसा जताया है कि बहुमत अब भी उनके साथ है. उनका कहना था कि उन्हें सत्ता से चिपके रहने का शौक नहीं है.

उधर, सुप्रीम कोर्ट ने राज्य विधानसभा के अध्यक्ष रमेश कुमार को निर्देश दिया है कि वे सत्ताधारी गठबंधन के बागी विधायकों के इस्तीफे या उन्हें अयोग्य घोषित करने पर 16 जुलाई तक कोई फैसला न लें. इससे पहले उसने कल विधानसभा अध्यक्ष को कल ही बागी विधायकों के इस्तीफे पर फैसला करने को कहा था. उधर, रमेश कुमार का कहना था कि इसकी कुछ संवैधानिक प्रक्रियाएं होती हैं और ये फैसला एक दिन में नहीं लिया जा सकता. अब तक कुल 16 विधायक सत्ताधारी जेडीएस-गठबंधन का साथ छोड़ चुके हैं. उधर, भाजपा का दावा है कि एचडी कुमारस्वामी सरकार अल्पमत में आ गई है और राज्यपाल को इसे बर्खास्त कर देना चाहिए.

सरकार ने रेलवे के निजीकरण के आरोपों को खारिज किया, पीयूष गोयल ने कहा - सुविधाएं और निवेश बढ़ाने के लिए सरकार पीपीपी के रास्ते पर चलेगी

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे के निजीकरण की विपक्ष की आशंकाओं को खारिज किया है. उन्होंने कहा कि रेलवे का कोई निजीकरण कर ही नहीं सकता. पीयूष गोयल का ये भी कहना था कि मोदी सरकार ने राजनीतिक लाभ के लिए नयी ट्रेनों का सपना दिखाने के बजाय सुविधाएं और निवेश बढ़ाने पर जोर दिया है. उनके मुताबिक इसी मकसद से रेलवे में सार्वजनिक-निजी साझेदारी यानी पीपीपी को न्योता दिया जा रहा है. पीयूष गोयल ने कहा कि रेलवे में सुविधाएं बढ़ाने के साथ गांवों और देश के विभिन्न हिस्सों को रेल संपर्क से जोड़ने के लिये बड़े निवेश की जरूरत है. इससे पहले कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी दलों ने आरोप लगाया था कि आम बजट में रेलवे में पीपीपी और विनिवेश पर जोर देने की आड़ में इसे निजीकरण के रास्ते पर ले जाया जा रहा है.

मानहानि के मामले में गुजरात पहुंचे राहुल गांधी का भाजपा पर निशाना, कहा - वैचारिक लड़ाई का मंच देने के लिए शुक्रिया

कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले राहुल गांधी आज मानहानि के एक मामले में अहमदाबाद की एक अदालत में पेश हुए. अदालत ने उन्हें सुनवाई पर पेश होते रहने की शर्त पर ज़मानत भी दे दी. इस दौरान एक ट्वीट करके राहुल गांधी ने भाजपा और आरएसएस पर निशाना साधा. उन्होंने लिखा कि उनके खिलाफ ये केस भाजपा और आरएसएस ने दर्ज करवाया है और वे उन्हें ऐसे मंच और मौके देने के लिए धन्यवाद देते हैं. राहुल गांधी का ये भी कहना था कि ऐसे मंचों के जरिये वे इन संगठनों के खिलाफ अपनी वैचारिक लड़ाई को जनता के बीच ले जाएंगे. नोटबंदी के दौरान राहुल गांधी ने अहमदाबाद के एक बैंक पर 745 करोड़ रुपये का कालाधन सफेद करने का आरोप लगाया था. इस बैंक के निदेशकों में से एक गृहमंत्री अमित शाह भी हैं. इसके बाद बैंक ने उन पर मानहानि का मामला दायर किया था.

लालू यादव प्रसाद को चारा घोटाले के एक मामले में ज़मानत मिली

राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाले के एक मामले में ज़मानत मिल गई है. झारखंड हाई कोर्ट ने उन्हें देवघर कोषागार मामले में ये राहत दी. कोषागार से अवैध निकासी के इस मामले में लालू प्रसाद यादव को निचली अदालत से साढ़े तीन साल की सजा मिली है. इसमें से वे आधी से ज्यादा अवधि जेल में बिता चुके हैं. आरजेडी सुप्रीमो ने सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले के हवाले से हाई कोर्ट से इसी आधार पर ज़मानत मांगी थी. हालांकि फिलहाल दो मामलों में सजा होने की वजह से लालू प्रसाद यादव को अभी जेल में ही रहना होगा.

उइगर मुस्लिमों को हिरासत में लेने पर चीन की सफाई, कहा - मकसद कट्टरपंथ से मुक्ति

चीन ने उइगर मुस्लिमों की एक बड़ी संख्या को हिरासत शिविरों में रखे जाने पर सफाई दी है. उसने कहा है कि ये पुनर्शिक्षित किए जाने वाले शिविर हैं. चीन के मुताबिक इनका मकसद उइगर मुस्लिमों के एक धड़े को कट्टरपंथ से मुक्त करना है. उसने उस चिट्ठी का भी विरोध किया है जो इन शिविरों की आलोचना करते हुए 22 देशों ने संयुक्त राष्ट्र को लिखी है. पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की सीमा से लगे चीन के शिनजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिमों को हिरासत शिविरों में रखा गया है. चीन ने ये कदम अलगाववादी पूर्वी तुर्किस्तान इस्लामिक आंदोलन के हिंसक हमलों के बाद उठाया है. इसको लेकर पश्चिमी देश लगातार उसकी आलोचना कर रहे हैं.

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.