खाद्य वस्तुओं के दाम बढ़ने से खुदरा महंगाई जून में बढ़कर 3.18 प्रतिशत पर पहुंच गयी. सरकारी आंकड़े के अनुसार, उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित खुदरा महंगाई इस साल मई महीने में 3.05 प्रतिशत थी. खुदरा महंगाई इस साल जनवरी से बढ़ रही है.

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित आंकड़ों के अनुसार खाद्य महंगाई जून 2019 में 2.17 प्रतिशत रही जो इससे पूर्व माह में 1.83 प्रतिशत थी. खाद्य वस्तुओं में अंडा, मांस और मछली जैसे प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों की महंगाई दर जून में अधिक रही. हालांकि सब्जियों और फलों के मामले में मुद्रास्फीति की वृद्धि धीमी रही.

शुक्रवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों में यह भी जानकारी दी गई है कि औद्योगिक उत्पादन (आईआईपी) की वृद्धि दर मई में घटकर 3.1 प्रतिशत रह गई. जबकि मई, 2018 में औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर 3.8 प्रतिशत रही थी. समीक्षाधीन महीने में बिजली क्षेत्र का उत्पादन 7.4 प्रतिशत बढ़ा. एक साल पहले इस महीने में बिजली क्षेत्र की वृद्धि दर 4.2 प्रतिशत रही थी. खनन क्षेत्र की वृद्धि दर मई 2019 में घटकर 3.2 प्रतिशत रह गई, जबकि मई, 2018 में खनन क्षेत्र का उत्पादन 5.8 प्रतिशत बढ़ा था.