इंग्लैंड ने 2019 क्रिकेट विश्व कप जीत लिया है. रविवार को खेला गया विश्व कप का फाइनल मुकाबला बेहद रोमांचक रहा. न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच हुआ यह मैच टाई रहा जिसके बाद मैच का नतीजा निकालने के लिए सुपर ओवर करवाया गया और सुपर ओवर भी टाई हो गया. आईसीसी के नियम के मुताबिक इस स्थिति में मैच में ज्यादा चौके लगाने वाली टीम को विजेता घोषित किया जाता है. इस मैच में इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड के मुकाबले ज्यादा चौके लगाए थे जिस आधार पर उसे विजेता घोषित कर दिया गया. इंग्लैंड ने इस मैच में कुल 24 चौके लगाए, जबकि न्यूजीलैंड की टीम ने अपनी पारी में कुल 14 चौके ही लगाए थे.

इससे पहले न्यूजीलैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 8 विकेट खोकर 241 रन बनाए. जवाब में उतरी इंग्लैंड की टीम ने भी 50 ओवर में 10 विकेट खोकर 241 बना लिए. इंग्लैंड ने सुपर ओवर में 15 रन बनाए और न्यूजीलैंड की टीम भी सुपर ओवर की 6 गेंदों में 15 रन ही बना सकी.

इंग्लैंड की पारी

न्यूजीलैंड द्वारा दिए गए 242 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए मेजबान इंग्लैंड को पहला झटका जेसन रॉय के रूप में लगा. जेसन रॉय 20 गेंदों में 17 रन बनाकर मैट हेनरी की गेंद पर विकेट के पीछे टॉम लेथम के हाथों कैच आउट हुए. इसके बाद जो रूट को कॉलिन डी ग्रैंडहोम ने सात रन पर चलता किया. इसके कुछ देर बाद ही जॉनी बेयरस्टो को लॉकी फर्ग्युसन ने क्लीन बोल्ड कर दिया. बेयरस्टो ने 55 गेंदों पर 36 रन बनाए.

इंग्लैंड को चौथा झटका कप्तान इयोन मोर्गन के रूप में लगा. मोर्गन 22 गेंदों में 9 रन बनाकर जिमी नीशम की गेंद पर फर्गुसन के हाथों कैच आउट हुए. इसके बाद जोस बटलर और बेन स्टोक्स ने पारी को संभाला और पांचवें विकेट के लिए 110 रन की साझेदारी की. लेकिन, जोस बटलर (59 रन) के आउट होने बाद कोई भी ज्यादा देर नहीं टिक सका. इसके बाद क्रिस वोक्स दो रन, लियाम प्लंकेट दस, जोफ्रा आर्चर, मार्क वुड और आदिल राशिद बिना कोई रन बनाए आउट हो गए. इंग्लैंड की तरफ से बेन स्टोक्स ने सबसे ज्यादा 84 रन बनाए और अंत तक नाबाद रहे.

न्यूजीलैंड की ओर से तेज गेंदबाज लॉकी फर्ग्यूसन और जेम्स नीशम ने तीन-तीन बल्लेबाजों को आउट किया. जबकि मैट हेनरी कॉलिन डी ग्रैंडहोम ने एक-एक इंग्लिश बल्लेबाज को अपना शिकार बनाया.

न्यूजीलैंड की पारी

इससे पहल लार्ड्स के मैदान में खेले जा रहे इस फाइनल मैच में न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था. न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज मार्टिन गुप्टिल और हेनरी निकोलस ने संभलकर शुरुआत की. लेकिन, सातवें ओवर में गुप्टिल पगबाधा आउट हो गए. उस समय टीम का स्कोर 29 रन था. उसके बाद आए कप्तान विलियमसन और निकोलस ने पारी को बढ़ाना शुरु किया और स्कोर को 103 तक पहुंचाया. लेकिन 103 रन के स्कोर पर प्लंकेट ने विलियमसन को बटलर के हाथों आउट करा न्यूजीलैंज का दूसरा विकेट झटका. विलियमसन ने 53 गेंदों में 30 रन बनाए. इसके बाद न्यूजीलैंड के विकेट जल्दी-जल्दी गिरे. निकोलस 27 वें ओवर में उस समय आउट हुए जब टीम का स्कोर 118 रन था. उन्होंने 77 गेंदों में 55 रन बनाए. इसके बाद रॉस टेलर भी 15 रन बनाकर आउट हो गए और टीम का स्कोर 141 रन पर चार विकेट हो गया.

इसके बाद लेथम और नीशम ने कुछ अच्छे शॉट्स खेलकर दबाव कम करने की कोशिश की. लेकिन रन गति बढ़ाने के प्रयास में नीशम प्लंकेट की गेंद पर आउट हो गए. न्यूजीलैंड की आधी टीम पैवेलियन वापस लौट चुकी थी और स्कोर 173 रन था. इसके बाद लेथम और ग्रैंडहोम ने पारी को संभाला. खासतौर, पर लेथम ने तेजी से रन बटोरने शुरु किए. लेकिन, मैच के 47 वें ओवर में ग्रैंडहोम, वोक्स की गेंद पर आउट हो गए. उस समय तक न्यूजीलैंड ने छह विकेट खोकर 219 रन बनाए थे. इसके बाद लेथम रन गति बढ़ाने के प्रयास में 49 ओवर में क्रिस वोक्स की गेंद पर आउट हो गए. इस समय तक न्यूजीलैंड का स्कोर 232 पर सात हो चुका था. पारी के आखिरी ओवर में आर्चर ने मैट हेनरी को बोल्ड कर दिया और न्यूजीलैंड आठ विकेट खोकर 241 रन ही बना सके.

इंग्लैंड की ओर से प्लंकेट ने 10 ओवर में 42 रन खर्च कर तीन विकेट लिए. क्रिस वोक्स को तीन और वुड को एक विकेट मिला. ज्योफ आर्चर ने किफायती गेंदबाजी करते हुए एक विकेट झटका.

इंग्लिश बल्लेबाज बेन स्टोक्स को उनकी 84 रन की पारी के लिए इस मैच का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया. न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन को टूर्नामेंट में 578 रन बनाने के लिए विश्व कप 2019 का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुना गया.