15 जुलाई 1912 को भारतीय सेना के महान अफसर मोहम्मद उस्मान का जन्म हुआ था. आजमगढ़ में पैदा हुए मोहम्मद उस्मान को मोहम्मद अली जिन्ना ने बंटवारे के समय मुसलमान होने का वास्ता देकर उनसे पाकिस्तान आने का आग्रह किया. यही नहीं, उन्हें पाकिस्तान की सेना का प्रमुख बनाने का ऑफर दिया गया. लेकिन उन्होंने इसे ठुकरा दिया और पाकिस्तान के साथ पहले युद्ध (1947-48) में शहीद हो गए. उनकी निर्भीक और बहादुराना नेतृत्व क्षमता के लिए उनको नौशेरा का शेर कहा जाता है.

15 जुलाई के नाम इतिहास में दर्ज कुछ और घटनाओं का सिलसिलेवार ब्योरा :

1611: आमेर के राजा और मुगल साम्राज्य के वरिष्ठ सेनापति जयसिंह का जन्म हुआ. उनको मिर्जा राजा के नाम से पुकारा जाता था.

1840: शिक्षाविद, ग्रन्थकार और सांख्यिकीविद अंग्रेज अधिकारी विलियम विलसन हन्टर का जन्म.

1883: प्रसिद्ध भारतीय व्यवसायी जमशेद जी जीजाभाई का जन्म हुआ. उन्हें उनकी दानवीरता के लिए भी जाना जाता है.

1903: भारत रत्न से सम्मानित स्वतंत्रता सेनानी, राजनेता और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के कामराज का जन्म. वे सुधारवादी नेता थे जिन्होंने तमिलनाडु के विकास के लिए काफी काम किए.

1909: आंध्र प्रदेश की प्रथम महिला नेता और स्वाधीनता संग्राम सेनानी दुर्गाबाई देशमुख का जन्म

1910: एमिल क्रेपलिन ने एलॉइस अल्जाइमर के नाम पर अल्जाइमर बीमारी का नाम दिया.

1916: बोइंग जो दुनिया की सबसे बड़ी एयरोस्पेस कंपनी है, आज ही के दिन शुरू हुई थी.

1925: प्रसिद्ध अभिनेता, नाटककार, निर्देशक और इन सबके अतिरिक्त रंगमंच के सिद्धांतकार बादल सरकार का जन्म.

1926: बॉम्बे (अब मुंबई) में पहली मोटरबस सेवा की शुरुआत.

1937: हिंदी के जाने-माने पत्रकार प्रभाष जोशी का जन्म.

1962: अल्जीरिया अरब लीग का हिस्सा बना था.

1967: मराठी रंगमंच के महान नायक और प्रसिद्ध गायक बाल गन्धर्व का निधन हुआ.

1984: पंजाब में सिख समुदाय के अशांत होने के बाद पंजाब को आतंकवाद प्रभावित क्षेत्र घोषित किया गया.

2000: सिएरा लियोन में सैन्य कार्यवाही द्वारा सभी भारतीय सैनिक बंधक मुक्त कराए गए.

2002: अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल के हत्यारे उमर शेख को पाकिस्तानी अदालत ने मौत की सजा सुनाई.

2004: भारतीय चिकित्सा वैज्ञानिक तथा परिवार नियोजन विशेषज्ञ बानो जहांगीर कोयाजी का निधन.

2011: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने पीएसएलवी सी-17 के जरिए जीसैट-12 ए का श्रीहरिकोटा से सफल प्रक्षेपण किया.

2017: गणित की दुनिया का प्रतिष्ठित सम्मान ‘फील्ड्स मेडल’ पाने वाली पहली महिला गणितज्ञ मरियम मिर्जाखानी का निधन.