पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) के नीलम घाटी इलाके में बीती रात बादल फटने की वजह से 23 लोगों की मौत हो गई है. खबरों के मुताबिक इस प्राकृतिक आपदा की वजह से घाटी का लासवा इलाका सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है. वहां भारी बारिश के बाद अचानक आई बाढ़ के कारण कई मकान भी ढह गए जिससे महिलाओं-बच्चों समेत बड़ी संख्या में लोग लापता हैं. इसके अलावा वहां कुछ जगहों पर भूस्खलन की सूचना भी है जिससे यातायात के अलावा टेलीफोन और इंटरनेट जैसी संचार सेवाएं प्रभावित हुई हैं.

इस बीच राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के संचालन निदेशक सैयद अल-रहमान कुरैशी ने कहा है, ‘बाढ़ की वजह से लासवा के मुख्य बाजार की भी कई इमारतों को काफी नुकसान पहुंचा है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘प्रभावित इलाकों में राहत और बचाव का काम शुरू कर दिया गया है. इसमें आपदा प्रबंधन की टीमों के अलावा जिला प्रशासन और स्थानीय पुलिस की सेवाएं भी ली जा रही हैं.’

इससे पहले बीते हफ्ते एक ग्लेशियर में कटाव के बाद पीओके के चितराल जिले में बाढ़ आ गई थी. तब इसके गॉलेन गोल गांव की सड़कों के साथ खेतों में भी भारी मात्रा में पानी भर जाने से सामान्य जन-जीवन पर व्यापक असर पड़ा था.