दुनिया भर में एचआईवी की वजह से होने वाली मौतों की संख्या में बड़ी गिरावट आयी है. संयुक्त राष्ट्र ने मंगलवार को यह जानकारी दी है. संस्था के मुताबिक एचआईवी की वजह से होने वाली मौतों की संख्या घटकर पिछले साल सात लाख 70 हजार हो गई, जो साल 2010 के मुकाबले तकरीबन 33 फीसदी कम है.

हालांकि, संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी देते हुए यह भी कहा है कि इस बीमारी के उन्मूलन के वैश्विक प्रयास अवरुद्ध हो रहे हैं क्योंकि वित्तपोषण बंद हो रहा है.

‘यूएन एड्स’ द्वारा जारी की गई वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक फिलहाल दुनिया भर में तकरीबन 3.79 करोड़ लोग एचआईवी से संक्रमित हैं. इनमें से 2.33 करोड़ लोगों की ‘एंटी रेट्रोवाइरल’ थेरेपी तक पहुंच है.

1990 के दशक के मध्य में एड्स ने भयंकर महामारी का रूप ले लिया था. तब से इस रोग के रोकथाम के लिए संयुक्त राष्ट्र सहित दुनिया की तमाम एजेंसियों ने युद्ध स्तर पर प्रयास शुरू किए. हालिया रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि साल 2017 में इस रोग से आठ लाख लोग मारे गये थे जो पिछले साल घटकर सात लाख सत्तर हजार हो गये.