विश्व कप क्रिकेट के फाइनल मैच की चर्चा अब भी चल रही है. इंग्लैंड की टेस्ट टीम के सदस्य जेम्स एंडरसन ने कहा है कि इस मैच के हीरो बेन स्टोक्स ने रविवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ फाइनल के दौरान अंपायरों को टीम के स्कोर से ओवरथ्रो के चार रन हटाने को कहा था जो अंत में निर्णायक साबित हुए.

न्यूजीलैंड के क्षेत्ररक्षक मार्टिन गुप्टिल का थ्रो स्टोक्स के बल्ले से टकराकर चार रन के लिए चला गया था. स्टोक्स इस समय दूसरा रन पूरा करने का प्रयास कर रहे थे. भाग कर लिए दो रन और ओवरथ्रो की बाउंड्री से स्टोक्स को छह रन दिए गए जबकि कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि पांच ही रन दिए जाने चाहिए थे. ऐसी स्थिति में इंग्लैंड को न्यूजीलैंड के खिलाफ एक रन से हार का सामना करना पड़ता जिसने आठ विकेट पर 241 रन बनाए थे.

टेस्ट टीम में स्टोक्स के साथी एंडरसन ने कहा कि इस आलराउंडर ने ओवरथ्रो के तुरंत बाद हाथ उठाकर माफी मांगी थी और अंपायरों से अपील की थी कि वे अपना फैसला बदल दें. एंडरसन ने बीबीसी से कहा, ‘क्रिकेट की शिष्टता यह है कि अगर गेंद विकेटों की तरफ फेंकी जाए और यह आपसे टकराने के बाद खाली जगह पर चली जाए तो आप रन न लें. लेकिन अगर यह बाउंड्री के लिए चली जाए तो नियमों के अनुसार यह चौका है और आप इसमें कुछ नहीं कर सकते.’

एंडरसन का आगे कहना था, ‘बेन स्टोक्स असल में अंपायरों के पास गए थे और उनसे कहा था कि क्या वे चार रन हटा सकते हैं क्योंकि वे ये रन नहीं चाहते. लेकिन ये नियम है और ऐसा ही है.’