कांग्रेस के पूर्व नेता अल्पेश ठाकोर और धवल सिंह झाला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल हो गए हैं. गुरुवार को भाजपा की गुजरात इकाई के अध्यक्ष जीतूभाई वाघाणी ने इन दोनों नेताओं को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता दिलाई. भाजपा में शामिल होने के बाद अल्पेश ठाकोर ने कांग्रेस पर निशाना भी साधा. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस में बीते दो महीने से अध्यक्ष पद खाली पड़ा है लेकिन उस पद को संभालने वाला कोई नहीं है.’ वहीं इस मौके पर जीतूभाई वाघाणी ने भाजपा को विचारधारा वाली पार्टी बताया और कहा, ‘भाजपा में शामिल होने वाले उसकी विचारधारा को अपना लेते हैं.’

इससे पहले बीती पांच जुलाई को हुए गुजरात राज्यसभा के उपचुनाव में अल्पेश ठाकोर और धवल सिंह झाला ने क्रॉस वोटिंग की थी. तब दोनों नेताओं ने कांग्रेस के बजाय भाजपा के प्रत्याशियों के समर्थन में वोट डाला था. फिर उसी शाम ठाकोर और झाला ने गुजरात विधानसभा की सदस्यता से अपना-अपना इस्तीफा भी दे दिया था. तब अल्पेश ठाकोर ने कहा था, ‘कांग्रेस में रहते हुए मुझे मानसिक तनाव के​ सिवाय कुछ नहीं मिला. मैं अब उस बोझ से मुक्त हो गया हूं.’ उसके बाद से ही ठाकोर के भाजपा में आने की अटकलें तेज हो गई थीं.

गौरतलब है कि अल्पेश ठाकोर, गुजरात के अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) में शामिल ठाकोर समुदाय से आते हैं. इस वर्ग के मतदाताओं पर उनकी अच्छी पकड़ भी मानी जाती है. ऐसे में उनके भाजपा में आने के बाद अब यह अटकलें भी हैं कि गुजरात कैबिनेट में जल्दी ही उन्हें कोई पद सौंपा जा सकता है.