राज्यसभा में शुक्रवार को कांग्रेस की एक सदस्य द्वारा केंद्र की किसान फसल बीमा योजना को ‘रफाल से भी बड़ा घोटाला’ बताये जाने पर कड़ी आपत्ति जताते हुए कृषि राज्य मंत्री पुरूषोत्तम रूपाला ने कहा कि उद्योगपति अडानी एवं अंबानी का ‘कसूर’ यही है कि वे ‘गुजराती’ हैं.

राज्यसभा में कृषि संबंधी चर्चा में भाग लेते हुए कांग्रेस की छाया वर्मा ने कहा कि सरकार की किसान फसल बीमा योजना ‘ऱफाल से भी बड़ा घोटाला है.’ चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री पुरूषोत्तम रूपाला ने किसानों की फसल बीमा योजना को रफाल से जोड़ने पर कड़ी आपत्ति जतायी. उन्होंने कहा, ‘रफाल के साथ किसान फसल बीमा योजना को जोड़ने का क्या मतलब है? क्या देश में दो ही उद्योगपति हैं..अडानी और अंबानी. हर चीज में अडानी-अंबानी..मुझे तो लगता है कि इनका कसूर यही है कि वे गुजराती हैं. हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी गुजराती हैं. इसी लिए इनको हर चीज से जोड़ दिया जाए.’

कृषि राज्य मंत्री ने कहा, ‘अनिल अंबानी के काम का कुल कांट्रेक्ट 800 करोड़ रूपये है. इसमें आक्षेप लगाया जा रहा है कि अंबानी की जेब में 30 हजार करोड़ रूपये डाल दिया गया. भला यह कैसे संभव हो सकता है?’ उन्होंने कहा, ‘रफाल ने इस देश के 100 लोगों को काम दिया है तो अकेले अऩिल अंबानी पर सवाल क्यों उठाया जाए? बाकी 99 में पारदर्शिता और अकेले अंबानी के मामले में भ्रष्टाचार, यह कहना कितना सही है?’ मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला ने कहा कि वह इस मुद्दे पर इसलिए जवाब दे रहे हैं क्योंकि सदन के एक सदस्य ने सरकार पर सवाल उठाया है और वह सरकार का हिस्सा हैं. उन्होंने कहा कि यदि उनकी बात से किसी को दुख पहुंचा है तो वह इसके लिए खेद जताते हैं.