एक तेल टैंकर को ईरान द्वारा पकड़े जाने के बाद उसमें सवार भारतीयों की सुरक्षित रिहाई के लिए भारत इस खाड़ी देश के संपर्क में है. पीटीआई के मुताबिक विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘हम इस मामले में और जानकारी ले रहे हैं. हमारा मिशन भारतीय नागरिकों की सुरक्षित रिहाई और उनकी वतन वापसी के लिए ईरान सरकार के संपर्क में है.’ खाड़ी क्षेत्र में बढ़ते तनाव के बीच ईरान ने कल ब्रिटिश झंडे वाले एक तेल टैंकर को जब्त कर लिया है. इस टैंकर पर सवार चालक दल के 23 सदस्यों में से 18 भारतीय हैं.

उधर, ब्रिटेन ने इसे लेकर ईरान को चेतावनी दी है. ब्रिटिश विदेश मंत्री जेरेमी हंट ने इसे अस्वीकार्य बताते हुए कहा है कि अगर ईरान ने इस तेल टैंकर को तुरंत नहीं छोड़ा तो इसके गंभीर परिणाम होंगे. उन्होंने कहा, ‘इस स्थिति को सुलझाने के लिए हमारे पास सैन्य विकल्प भी है. हम राजनयिक तरीके पर भी विचार कर रहे हैं. लेकिन हम बिलकुल स्पष्ट हैं कि इसका समाधान होना ही चाहिए.’

ब्रिटेन ने ईरान से सटे होरमुज़ खाड़ी क्षेत्र से गुजरने वाले ब्रिटिश जहाजों से सावधानी बरतने के लिए भी कहा है. इस पूरे इस घटनाक्रम पर चर्चा के लिए ब्रिटिश सरकार की आपातकाल समिति कोबरा ने शुक्रवार को दो बार आपात बैठक की. सरकार के एक प्रवक्ता का कहना है कि ईरान की इस कार्रवाई से साफ तौर पर आवागमन की अंतरराष्ट्रीय स्वतंत्रता के लिए चुनौती पैदा हुई है.