‘भारत के मुसलमान पाकिस्तान न जाने की सजा भुगत रहे हैं.’

— आजम खान, समाजवादी पार्टी के नेता

आजम खान ने यह बात मॉब लिंचिंग (भीड़ द्वारा हिंसा) को लेकर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही. इसके साथ ही सवालिया लहजे में उन्होंने यह भी कहा, ‘हमारे पूर्वज पाकिस्तान क्यों नहीं गए इसका जवाब मौलाना आजाद, पंडित नेहरू, सरदार पटेल और बापू से पूछना चाहिए क्योंकि तब उन्होंने मुसलमानों से कई वादे किए थे.’ आजम खान ने आगे कहा, ‘मैं जानना चाहता हूं कि उन्होंने मुसलमानों से क्यों इतने वादे किए.’ इस मौके पर उनका यह भी कहना था, ‘देश में मुसलमानों के साथ जो कुछ किया जाएगा उसका वे सामना करेंगे.’

‘कश्मीर समस्या का हल जल्द निकलेगा और दुनिया की कोई ताकत ऐसा होने से रोक नहीं सकती.’

— राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री

राजनाथ सिंह ने यह बात जम्मू-कश्मीर के कठुआ में पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘अगर कोई बातचीत से समस्याओं का समाधान नहीं चाहता तो हमें अच्छी तरह से पता है कि हालात को कैसे संभालना है.’ इसके साथ ही राजनाथ सिंह का यह भी कहना था, ‘जो लोग कश्मीर में आंदोलन के जरिये समाधान चाहते हैं मैं उनसे अपील करता हूं कि वे बैठें और बातचीत करें. इससे समस्याओं का पता चलेगा और फिर आपसी विचार-विमर्श से उन्हें हल करने के प्रयास किए जाएं.’


‘मेरा मकसद पूरा हो गया, अब देखना है कि प्रशासन क्या करता है.’ 

— प्रियंका गांधी, कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव

प्रियंका गांधी ने यह बात मिर्जापुर में सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ित परिवारों के परिजनों से हुई मुलाकात के बाद पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने पीड़ित परिवारों को सुरक्षा मुहैया कराने के साथ 25-25 लाख रुपये के मुआवजे की मांग भी की. प्रियंका गांधी ने कहा, ‘इस हत्याकांड में मरने वालों के परिवारों को कांग्रेस की तरफ से दस लाख रुपये की मदद मुहैया कराई जाएगी.’ इसके साथ ही उनका यह भी कहना था, ‘भविष्य में जब भी मौका मिलेगा तो मैं सोनभद्र जरूर जाऊंगी.’


‘हमारी सरकार सूटकेस वाली सरकार नहीं है.’

— निर्मला सीतारमण, केंद्रीय वित्तमंत्री

निर्मला सीतारमण ने यह बात एक कार्यक्रम के दौरान अपना बजट भाषण एक कपड़े में बांधकर ले जाने को लेकर कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘सूटकेस कुछ और भी दर्शाता है. जैसे कि सूटकेस लेना या देना.’ इसके साथ ही ​निर्मला सीतारमण का यह भी कहना था, ‘मुझे सूटकेस पंसद नहीं है. वैसे भी यह प्रचलन ब्रिटिश काल से चला आ रहा है इसलिए मैंने भारतीय परंपरा को प्रदर्शित करने वाले लाल कपड़े में वित्तीय लेखा-जोखा (बजट) ले जाने की शुरुआत की.’


‘ईरान अगर तेल टैंकर नहीं छोड़ता तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे.’

— जेरेमी हंट, ब्रिटेन के विदेश मंत्री

जेरेमी हंट ने यह बयान ईरान को चेतावनी देते हुए दिया. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘इस स्थिति को सुलझाने के लिए हमारे पास सैन्य विकल्प भी मौजूद हैं. साथ ही हम राजनयिक तरीके पर भी विचार कर रहे हैं.’ उन्होंने आगे कहा, ‘हम पूरी तरह से स्पष्ट हैं कि इस मसले का समाधान होना ही चाहिए.’ इससे पहले खाड़ी क्षेत्र में बढ़ते तनाव के बीच ईरान ने इसी शुक्रवार को ब्रिटेन का एक तेल टैंकर जब्त कर लिया था.