खुद के बहिष्कार से नाराज कंगना रनोट ने प्रेस संस्थाओं को कानूनी नोटिस भेजा | रविवार, 14 जुलाई 2019

अभिनेत्री कंगना रनोट का मीडिया के साथ विवाद बढ़ता नजर आ रहा है. एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट गिल्ड द्वारा खुद के बहिष्कार से क्षुब्ध कंगना रनोट ने इस संस्था और प्रेस क्लब आफ इंडिया को कानूनी नोटिस भेजा. कंगना के वकील की ओर से भेजे गए नोटिस में कहा गया है कि एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट गिल्ड और प्रेस क्लब आफ इंडिया उन पर प्रतिंबध लगाकर एक पत्रकार के अनैतिक कृत्य का समर्थन कर रहा है. नोटिस में यह भी कहा गया कि अगर उन पर प्रतिबंध न हटाया गया तो पत्रकार को गंभीर परिणामों का सामना करना पड़ सकता है.

कुछ दिनों पहले फिल्म ‘जजमेंटल है क्या’ के एक गाने की रिलीज के दौरान कंगना की एक पत्रकार जस्टिन राव के साथ बहस हो गई थी. कंगना ने रिपोर्टर पर अपने खिलाफ गलत बातें लिखने का आरोप लगाया था और उसके सवालों का जवाब देने से मना कर दिया था. इसके बाद कंगना रनोट का एक और वीडियो सामने आया. उसमें उन्होंने माफी मांगने से इन्कार कर दिया और कुछ पत्रकारों को दसवीं पास, देशद्रोही करार दिया था. इसके बाद एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट गिल्ड द्वारा कंगना रनोट के बहिष्कार के फैसले का मुंबई प्रेस क्लब और प्रेस क्लब आफ इंडिया ने समर्थन किया था. जिसके बाद कंगना ने इन संस्थाओं को कानूनी नोटिस भेजा है.

सुप्रीम कोर्ट ने आसाराम बापू की जमानत याचिका खारिज की | सोमवार, 15 जुलाई 2019

धार्मिक गुरु और स्वयंभू संत आसाराम बापू को उस वक्त बड़ा झटका लगा जब सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने उसकी एक जमानत याचिका खारिज कर दी. आसाराम बापू ने यह याचिका यौन उत्पीड़न के एक मामले में राहत पाने के लिए लगाई थी. वहीं इस मामले में गुजरात सरकार की तरफ से पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट को बताया कि आरोपित के खिलाफ निचली अदालत में ट्रायल चल रहा है. साथ ही इस मामले में अभी 210 गवाहों की जांच होनी बाकी है.

इस पर जस्टिस एनवी रमना की अगुवाई वाली खंडपीठ ने जमानत याचिका खारिज करने का फैसला सुनाया साथ ही यह भी कहा कि गुजरात हाईकोर्ट द्वारा की गई प्रथम दृष्टया टिप्पणियों से प्रभावित हुए बगैर निचली अदालत इस मामले का ट्रायल जारी रखे.

पूर्वोत्तर और बिहार में बाढ़ से अब तक 44 लोगों की मौत, 70 लाख प्रभावित | मंगलवार, 16 जुलाई 2019

पूर्वोत्तर और बिहार के कई हिस्सों में बाढ़ से स्थिति गंभीर होती जा रही है. पीटीआई के मुताबिक इसकी वजह से मरने वालों की संख्या 44 हो चुकी है. इसके अलावा बाढ़ से करीब 70 लाख लोग प्रभावित हैं. असम के 33 में से 30 जिलों के करीब 43 लाख लोग बाढ़ से जूझ रहे हैं. वहां इस आपदा ने 15 लोगों की जान ली है. असम का मशहूर काज़ीरंगा नेशनल पार्क लगभग पूरी तरह पानी में डूब गया है.

उधर, बिहार में बाढ़ से हालात गंभीर हैं. इसके चलते मरने वालों की संख्या 24 हो गई है. पड़ोसी देश नेपाल में मूसलाधार बारिश के बाद राज्य के 12 जिलों में आई बाढ़ की वजह से करीब 25 लाख लोग प्रभावित हैं. उधर, संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इस आपदा से हुए जान-माल के नुकसान पर अफसोस जताया है. उनका ये भी कहना है कि जहां और जिस भी मदद की जरूरत हो, उसके लिए संस्था तैयार है.

बीएसएनएल और एमटीएनएल के संकट पर अमित शाह की अगुवाई वाले मंत्रिसमूह की बैठक | बुधवार, 17 जुलाई 2019

संकट से घिरीं सरकारी दूरसंचार कंपनियों बीएसएनएल और एनटीएनएल को बचाने के लिए कोशिशें शुरू हो गई हैं. गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में गठित एक मंत्री समूह ने इसे लेकर एक बैठक की. इस बैठक में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, कानून और दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद के साथ दूरसंचार सचिव अरुणा सुंदरराजन भी मौजूद थे. बैठक में इन दोनों कंपनियों को बचाने के उपायों पर चर्चा हुई.

ये दूसरी बार है जब बीएसएनएल और एनटीएनएल को बचाने के लिए एक मंत्री समूह का गठन किया गया है. काफी समय से घाटे में चल रहीं इन कंपनियों को अब अपने कर्मचारियों को वेतन देने के भी लाले हैं. हाल में खबरें आई थीं कि इन कंपनियों को उबारने के लिए केंद्र सरकार इन्हें 74,000 करोड़ रुपये का बेलआउट पैकेज देने पर विचार कर रही है.

22 जुलाई को चंद्रयान-2 मिशन फिर लॉन्च किया जाएगा | गुरुवार, 18 जुलाई 2019

भारत के महत्वाकांक्षी अंतरिक्ष अभियान चंद्रयान-2 की इस महीने 22 जुलाई को फिर से लॉन्चिंग होगी. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने एक ट्वीट कर ये जानकारी दी है. उसके मुताबिक 22 जुलाई को लॉन्च दोपहर दो बजकर 43 मिनट पर होगा. इससे पहले 18 जुलाई को चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग रोक दी गई थी. लॉन्चिंग सिस्टम में एक तकनीकी दिक्कत के चलते ये फैसला किया गया.

चंद्रयान-2 दस साल के भीतर भारत का चंद्रमा पर भेजा जाने वाला दूसरा अभियान है. इससे पहले भारत ने अक्टूबर 2008 में चंद्रयान-1 चंद्रमा की कक्षा में भेजा था. चंद्रयान-2 की सफलता के साथ ही भारत – अमेरिका, रूस और चीन के बाद धरती के इस उपग्रह पर अंतरिक्ष यान उतारने वाला चौथा देश बन जाएगा

कर्नाटक में राज्यपाल ने कुमारस्वामी सरकार को बहुमत साबित करने के लिए नई समयसीमा दी | शुक्रवार, 19 जुलाई 2019

कर्नाटक में असाधारण राजनीतिक हालात पैदा हो गए हैं. राज्यपाल वजूभाई वाला ने एचडी कुमारस्वामी को शुक्रवार को बहुमत साबित करने के लिए कहा था लेकिन ये समय सीमा गुजर गयी. उधर, कांग्रेस दोबारा सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई है. पार्टी की कर्नाटक इकाई अध्यक्ष दिनेश गुंडूराव ने एक याचिका दायर कर शीर्ष अदालत से 17 जुलाई का आदेश साफ करने के लिए कहा है. कांग्रेस का कहना है कि इस फैसले से विधायकों के लिए पार्टी व्हिप जारी करने के उसके संवैधानिक अधिकार पर चोट हो रही है. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि इस्तीफा दे चुके सत्ताधारी गठबंधन के 15 बागी विधायक को विधानसभा की कार्रवाई में हिस्सा लेने के लिए बाध्य नहीं किया जा सकता.

उधर, विधानसभा में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी ने भाजपा पर तीखा हमला बोला. उन्होंने आरोप लगाया कि उनके विधायकों को लुभाने के लिए 40 से 50 करोड़ रुपये तक की पेशकश की गई. वहीं, विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार ने जानबूझकर विश्वासमत में देरी का भाजपा का आरोप खारिज किया. उनका कहना था कि जो लोग ऐसा आरोप लगा रहे हैं वे पहले अपने अतीत पर भी गौर करें.

प्रियंका गांधी सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ितों से मिलीं, कहा- मेरा मकसद पूरा हुआ | शनिवार, 20 जुलाई 2019

बीते बुधवार को उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में हुए हत्याकांड को लेकर प्रदेश सरकार और कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के बीच चल रही खींचतान खत्म हो गई. इसके साथ ही कांग्रेस महासचिव मिर्जापुर से दिल्ली के लिए रवाना भी हो गईं. खबरों के मुताबिक शनिवार को इस हत्याकांड के पीड़ितों के कुछ नातेदार खुद मिर्जापुर के चुनार गेस्ट हाउस में कांग्रेस महासचिव से मिलने पहुंचे थे. उनसे मुलाकात करने के बाद प्रियंका गांधी ने पत्रकारों से भी बातचीत की और कहा, ‘मेरा मकसद पूरा हो गया है. अब देखना है कि प्रशासन क्या करता है.’

इसके साथ ही पीड़ित परिवारों के लिए प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश सरकार से सुरक्षा के साथ-साथ 25-25 लाख रुपये के मुआवजे की मांग भी की. साथ ही कहा, ‘इस हत्याकांड में मरने वालों के परिवारों को कांग्रेस की तरफ से दस लाख रुपये की मदद मुहैया कराई जाएगी.’ कांग्रेस नेता ने यह भी कहा, ‘भविष्य में जब भी मौका मिलेगा तो मैं सोनभद्र जरूर जाऊंगी.’