पाकिस्तानी माफिया घूस, ब्लैकमेलिंग के जरिये न्यायपालिका पर दबाव बना रहा है : इमरान खान | रविवार, 14 जुलाई 2019

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर निशाना साधते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि विदेशों में जमा अपनी अरबों की रकम को सुरक्षित रखने के लिये पाकिस्तानी माफिया संस्थानों और न्यायपालिका पर घूसखोरी, धमकी, ब्लैकमेलिंग जैसे हथकंडे अपना रहा है. इमरान खान ने ट्वीट किया, ‘ठीक ‘सिसलियन माफिया’ की तरह ही पाकिस्तानी माफिया विदेशों में जमा किये गए अपने अरबों रुपयों की सुरक्षा के लिये सरकारी संस्थानों और न्यायपालिका पर रिश्वत,धमकी, ब्लैकमेल और याचना के जरिये दबाव बनाने के हथकंडे अपना रहा है.’

पीएमएल-एन नेता मरियम नवाज द्वारा शरीफ के मुकदमे की सुनवाई से संबंधित वीडियो लीक किये जाने के बाद इमरान खान का यह बयान आया. पाकिस्तान की जवाबदेही अदालत द्वारा पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को एक मामले में दोषी ठहराये जाने के बाद पीएमएल-एन ने एक वीडियो जारी किया था. जिसमें जवाबदेही अदालत के न्यायाधीश अरशद मलिक यह स्वीकर कर रहे हैं कि उन्होंने नवाज शरीफ को बिना साक्ष्य दोषी ठहराया.

अमेरिका : विदेशी मूल की महिला सांसदों के खिलाफ डोनाल्ड ट्रंप के ट्वीट्स की चौतरफा आलोचना| सोमवार, 15 जुलाई 2019

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक बार फिर विवादों में घिर गए. इसकी वजह डेमोक्रेटिक पार्टी की कुछ महिला सांसदों के खिलाफ उनके ट्वीट हैं. इनमें डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि इन सांसदों को वहीं लौट जाना चाहिए जहां से वे आई हैं. उनका ये भी कहना था कि इन सांसदों को अमेरिका की आलोचना के बजाए अपने देश के हाल ठीक करने चाहिए. इन महिला सांसदों ने हाल में मैक्सिको सीमा पर मौजूद शरणार्थी हिरासत केंद्रों में हालात खराब होने का आरोप लगाते हुए ट्रंप प्रशासन की आलोचना की थी.

इस तरह के ट्वीट्स के बाद डोनाल्ड ट्रंप की काफी आलोचना हो रही है. अमेरिका के निचले सदन हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने राष्ट्रपति की इन टिप्पणियों को विभाजनकारी क़रार दिया. सीनेटर कमला हैरिस ने भी इनकी आलोचना की. उन्होंने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति के मुंह से ऐसी बातें शोभा नहीं देतीं.

पाकिस्तान ने असैन्य उड़ानों के लिए अपना हवाई क्षेत्र खोला, भारतीय विमान भी जल्द उड़ान भरेंगे | मंगलवार, 16 जुलाई 2019

पाकिस्तान ने अपने हवाई क्षेत्र को सभी तरह की असैन्य उड़ानों के लिए खोल दिया. इसके साथ ही फरवरी में हुए बालाकोट हवाई हमले के बाद पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र में भारतीय उड़ानों पर लगा प्रतिबंध समाप्त हो गया. इससे सबसे ज्यादा लाभ एअर इंडिया को होगा. फरवरी से अभी तक अपनी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को दूसरे रूट से ले जाने के कारण कंपनी को करीब 491 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ.

पाकिस्तान ने 26 फरवरी को बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर भारतीय वायुसेना के हमले के बाद से अपना हवाई क्षेत्र बंद कर दिया था. भारत ने ये कार्रवाई जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले के बाद की थी. इस हमले में 40 जवान मारे गए थे.

पाकिस्तान में हाफिज़ सईद गिरफ्तार | बुधवार, 17 जुलाई 2019

पाकिस्तान में हाफिज सईद को गिरफ्तार कर लिया गया. जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत जैसे संगठनों के इस मुखिया की गिरफ्तारी लाहौर में की गई. हाफिज सईद को 2008 में मुंबई पर हुए आतंकी हमले का मास्टरमाइंड माना जाता है. पाकिस्तान सरकार ने उसे आतंकवाद के लिए फंड इकट्ठा करने के आरोप में गिरफ्तार किया. हाफिज़ सईद पर आरोप है कि उसने कई गैर-सरकारी संस्थाएं बनाईं जिन्होंने चंदा जमा करके आतंकी संगठनों को मदद दी.

हाफिज सईद को अमेरिका ने वैश्विक आतंकवादी घोषित कर रखा है. इतना ही नहीं, अमेरिका ने उसे पकड़वाने वाले के लिए एक करोड़ डॉलर के इनाम का ऐलान भी किया है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान जल्द ही अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मिलने जाने वाले हैं. अमेरिका बीते कुछ समय से पाकिस्तान पर आतंकवाद को लेकर प्रभावी कार्रवाई का दबाव बना रहा है. ऐसे में हाफिज सईद की गिरफ्तारी को इस मुलाक़ात से पहले बनाई जाने वाली भूमिका के रूप में भी देखा जा रहा है.

जापान में आगजनी की एक घटना में कम से कम 24 लोगों की मौत | गुरुवार, 18 जुलाई 2019

जापान में आगजनी की एक घटना में कम से कम 24 लोगों की मौत हो गई. ये घटना क्योतो शहर में हुई जहां एक शख्स ने एक ऐनिमेशन कंपनी में दफ्तर में आग लगा दी. इस वारदात में 35 लोग घायल भी हो गए जिन्हें अस्पतालों में भर्ती कराया गया है. पुलिस के मुताबिक इनमें वह शख्स भी शामिल है जिसने यह आग लगाई. अधिकारियों का कहना है कि मृतकों का आंकड़ा बढ़ सकता है क्योंकि कई घायलों की हालत बेहद गंभीर है. आग से तीन मंजिला ये इमारत पूरी तरह जल गई.

अमेरिका के ईरानी ड्रोन मार गिराने के बाद खाड़ी में तनाव और बढ़ा| शुक्रवार, 19 जुलाई 2019

अमेरिका द्वारा ईरान का एक ड्रोन मार गिराए जाने के दावे के बाद खाड़ी क्षेत्र में तनाव और बढ़ गया. शुक्रवार को अमेरिका ने कहा कि होर्मुज जल संधि क्षेत्र में अमेरिकी नौसैन्य पोत के लिए खतरा पैदा होने के बाद ईरान के ड्रोन को मार गिराया गया. ईरान और अमेरिका के बीच घटी कई गंभीर घटनाओं के बाद ईरान के खिलाफ अमेरिकी सेना की यह पहली कार्रवाई है. पीटीआई के मुताबिक शुक्रवार को पेंटागन के मुख्य प्रवक्ता जोनाथन होफ्फमैन ने कहा, ‘गुरूवार को अमेरिकी युद्धपोत यूएसएस बॉक्सर ने पोत एवं चालक दल के सदस्यों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए यह रक्षात्मक कदम उठाया.’

हालांकि, अमेरिका के दावे से उलट ईरान ने अपने किसी भी ड्रोन के मार गिराए जाने की घटना से इनकार किया. ईरानी न्यूज़ एजेंसी ‘तस्नीम’ के मुताबिक ईरानी सशस्त्र बलों के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल अबुलफजल शेकार्ची ने ट्रंप के बयान को निराधार एवं झूठा बताया. उनके मुताबिक अमेरिकी पोत के साथ किसी झड़प की कोई खबर नहीं है.

चीन की अंतरिक्ष प्रयोगशाला पृथ्वी पर गिरते हुए वायुमंडल में जलकर नष्ट हुई | शनिवार, 20 जुलाई 2019

चीन की प्रायोगिक अंतरिक्ष प्रयोगशाला तिआनगोंग-2 नियंत्रित रूप से शुक्रवार शाम को अपनी कक्षा से बाहर निकलकर पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश कर गई. पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश के दौरान इसका ज्यादातर हिस्सा जल गया था. हालांकि इस दौरान थोड़ी मात्रा में मलबा दक्षिणी प्रशांत महासागर में भी गिरा. चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने देश की अंतरिक्ष एजेंसी नव अंतरिक्ष इंजीनियरिंग कार्यालय (सीएमएसईओ) के हवाले से यह जानकारी दी. चीन की इस प्रयोगशाला का पृथ्वी की कक्षा में पुन: प्रवेश भारतीय समयानुसार करीब छह बजकर 24 मिनट पर हुआ.

तिआनगोंग-2 चीन की पहली अंतरिक्ष प्रयोगशाला है जिसे 15 सितंबर 2016 को प्रक्षेपित किया गया था. इस अंतरिक्ष प्रयोगशाला ने अपनी कक्षा में 1,000 से अधिक दिन तक काम किया जो उसके दो साल की निर्धारित आयु से अधिक है. इससे पहले 13 जुलाई को सीएमएसईओ ने बताया था कि तिआनगोंग-2 पर उसका पूरी तरह से नियंत्रण है और उसे नियंत्रित तरीके से ही पृथ्वी के वायुमंडल में लाया जाएगा. साथ ही इस एजेंसी ने आश्वासन दिया था कि इस दौरान किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की आशंका नहीं है.