बिहार और असम में बाढ़ की स्थिति अब भी भयावह बनी हुई है. दोनों पूर्वी राज्यों में इस प्राकृतिक आपदा से करीब 1.11 करोड़ लोग प्रभावित हुए हैं. पीटीआई के मुताबिक मरने वालों की संख्या 166 तक पहुंच चुकी है. बाढ़ से असम में 64 लोगों की मौत हुई है जबकि बिहार में यह आंकड़ा 102 रहा.

बिहार में बाढ़ से 12 जिलों के 72.78 लाख लोग प्रभावित हैं. आपदा प्रबंधन विभाग के अनुसार बिहार के मधुबनी जिले से लोगों के मरने की सूचना मिली है और इसके साथ ही जिले में मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 23 पहुंच गया है. सीतामढ़ी 27 लोगों की मौतों के साथ अब भी बाढ़ से सबसे अधिक प्रभावित जिला बना हुआ है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सीतामढ़ी और दरभंगा जिलों में राहत शिविरों का दौरा किया है. उन्होंने अधिकारियों को राहत और बचाव कार्य में कोई कसर न छोड़ने के निर्देश दिए हैं.

असम के 33 जिलों में से 18 में रहने वाले 38.37 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के अनुसार असम में मोरीगांव से दो लोगों और धेमाजी, ग्वालपाड़ा और कामरूप से एक-एक व्यक्ति के मरने की सूचना है. हजारों लोगों ने राहत शिविरों में शरण ली है. असम का मशहूर काजीरंगा नेशनल पार्क बाढ़ के पानी में लगभग पूरी तरह डूब गया है. इसके चलते जानवर ऊंचाई वाले क्षेत्रों की तरफ पलायन कर रहे हैं.