केंद्र सरकार ने इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तारीख एक महीना आगे बढ़ा दी है. इस सुविधा से व्यक्तिगत करदाता अब बिना किसी जुर्माने के 31 अगस्त तक अपना रिटर्न दाखिल कर सकेंगे. इससे पहले इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख हमेशा की तरह 31 जुलाई तय की गई थी. नियमों के मुताबिक अब जुलाई के बजाय 31 अगस्त के बाद रिटर्न दाखिल करने वाले करदाताओं को पांच हजार रुपये का जुर्माना भरना होगा.

इनकम टैक्स का यह रिटर्न 2018-19 के वित्तीय वर्ष के लिए भरा जाएगा. इसके जरिये व्यक्तिगत करदाता, हिंदू अविभाजित परिवार और ऐसे करदाता रिटर्न दाखिल करेंगे जिनके खातों का ऑडिट नहीं किया जाता. वहीं टैक्स दाखिल करने वाली फर्म और कंपनियों के लिए भी 31 अगस्त की यह तारीख लागू नहीं होगी. उनके लिए टैक्स रिटर्न दाखिल करने की आखिरी तारीख 30 सितंबर निर्धारित की गई है. इसके अलावा जिन्हें सेक्शन 92ई के तहत रिपोर्ट जमा करनी होती है उनके लिए आयकर विभाग की तरफ से आखिरी तारीख 30 नवंबर तय की गई है.