सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले की ‘स्वाट’ टीम के पुलिसकर्मियों का एक वीडियो वायरल होने के बाद इनके खिलाफ कार्रवाई की गई है. उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिरीक्षक (डीजीपी) ओपी सिंह ने शनिवार को इस टीम को भंग करने और संबंधित पुलिसकर्मियों को लाइन अटैच करने का आदेश दिया है. इस टीम में आठ सदस्य थे.

उत्तर प्रदेश पुलिस की तरफ से एक ट्वीट में इस फैसले की जानकारी दी गई है. इसमें लिखा गया है, ‘बस्ती जिले की स्वाट टीम के वायरल हुए वीडियो के संदर्भ में उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने बस्ती के पुलिस अधीक्षक को इस पूरी टीम को लाइन अटैच करने और इस मामले की जांच का आदेश दिया है. हम पुलिस की छवि खराब करने वाले हथियारों के गैरपेशेवर और ओछे प्रदर्शन को स्वीकार नहीं करते.’

उत्तर प्रदेश पुलिस की इस स्वाट टीम (विशेष हथियार और रणनीति दस्ता) के इस विडियो को बिलकुल फिल्मी अंदाज में शूट किया गया था. इसमें स्वाट प्रभारी विक्रम सिंह हाथ में पिस्टल लिए हुए अपने चार सहयोगियों को निर्देश देते हुए देखे जा सकते हैं. इस दौरान उनकी टीम के एक साथी के हाथ में एके-47 नजर आती है जबकि तीन अन्य के पास पिस्टल दिख रही हैं. यह क्लिप मूल रूप से वीडियो एप ‘टिक-टॉक’ पर अपलोड की गई थी लेकिन फिर वहां से यह सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. इसके बाद सोशल मीडिया पर कई लोगों ने प्रदेश के पुलिस प्रमुख ओपी सिंह को टैग करते हुए विक्रम सिंह समेत उनके साथ मौजूद लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी.