चौदहवीं गुजरात विधानसभा ने एक दिन की सबसे लंबी बैठक के 1993 के अपने ही रिकार्ड को तोड़ दिया है. शुक्रवार-शनिवार को विधानसभा की कार्यवाही लगातार 12 घंटे और नौ मिनट तक चली. इस संबंध में विधानसभा अध्यक्ष की घोषणा के बाद विधायकों और अधिकारियों ने इस ऐतिहासिक घटना का उत्सव भी मनाया.

शनिवार को जारी आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, ‘चौथे सत्र का अंतिम दिन गुजरात विधानसभा के लिए ऐतिहासिक रहा क्योंकि इसकी कार्यवाही 12 घंटे और नौ मिनट से अधिक समय तक चली और इससे छह जनवरी 1993 का उसका रिकार्ड टूट गया.’ करीब 25 साल पहले छह जनवरी 1993 को गुजरात विधानसभा की कार्यवाही 12 घंटे और आठ मिनट तक चली थी. इसी विज्ञप्ति में जानकारी दी गई है कि शुक्रवार को विधानसभा की कार्यवाही सुबह दस बजे शुरू हुई थी और देर रात (शनिवार) करीब 12 बजकर नौ मिनट तक चली. इस समयावधि में विधायकों द्वारा लिए गए भोजनावकाश का वक्त नहीं जोड़ा गया है.

इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी ने सभी विधायकों और अधिकारियों को बधाई दी है और कहा है कि यह घटना मजबूत और स्वस्थ लोकतंत्र का दिखाती है.