बिहार में एक स्थानीय पत्रकार पर जानलेवा हमले की खबर है. इस पत्रकार की पहचान एक दैनिक अखबार में काम करने वाले 24 वर्षीय प्रदीप मंडल के रूप में की गई है. एएनआई के मुताबिक यह बिहार के मधुबनी जिले की घटना है. प्रदीप पंडल पर हथियारबंद दो बाइक सवारों ने गोली चलाई. फिलहाल उनका दरभंगा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में इलाज चल रहा है. इस अस्पताल के चिकित्सक डॉ डीसी कर्ण ने उनकी स्थिति को खतरे से बाहर बताया है.

घटना के बाद मधुबनी के पुलिस अधीक्षक (एसपी) डॉ सत्य प्रकाश की अगुवाई में कई जगहों पर छापामारी की गई. उधर, एएसपी कामिनी बाला ने बताया कि संदेह के आधार पर इस घटना में शामिल दो आरोपितों की पहचान कर ली गई है. हालांकि, अब तक इनकी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है.

इससे पहले मार्च, 2018 में भी बिहार के भोजपुर जिले में एक दैनिक अखबार के दो पत्रकारों की हत्या कर दी गई थी. मई 2016 में सारण के पत्रकार राजीव रंजन की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में राजद नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन मुख्य आरोपित हैं.

हाल के समय में भारत में पत्रकारों की हत्या के मामले में लगातार बढ़ोतरी हुई है. साल 2016 में इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ जर्नलिस्ट्स ने भारत को पत्रकारों के लिए खतरनाक शीर्ष आठ देशों की सूची में शामिल किया था.