उत्तर प्रदेश के उन्नाव बलात्कार मामले की पीड़िता के एक सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल होने को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशाना साधा है. एक ट्वीट के जरिये प्रियंका गांधी ने इस सड़क हादसे को चौंकाने वाला बताते हुए सवालिया लहजे में कहा है, ‘इस केस में चल रही सीबीआई जांच कहां तक पहुंची. आरोपित विधायक अभी तक भाजपा में क्यों है? पीड़िता और गवाहों की सुरक्षा में ढिलाई क्यों बरती गई?’ कांग्रेस महासचिव ने आगे कहा, ‘इन सवालों के जवाब के बिना भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार से न्याय की उम्मीद नहीं की जा सकती है.’

इस दौरान कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी इस घटना को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार पर तंज कसा है. सड़क दुर्घटना की खबर का हवाला देते हुए एक ट्वीट के जरिये उन्होंने कहा है, ‘मेरा कातिल ही मेरा मुंसिफ है, क्या मेरे हक में फैसला देगा?’ इसके साथ ही एक अन्य ट्वीट के जरिये रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यह भी कहा कि यह पता लगाया जाना चाहिए कि उन्नाव बलात्कार पीड़ित के साथ हादसा हुआ है या फिर उसकी हत्या का षडयंत्र रचा गया था. उनका यह भी कहना है, ‘जब रक्षक भक्षक बन जाएं तो कौन न्याय करेगा.’

इधर, सोमवार को यह मुद्दा राज्यसभा में भी गूंजा. सपा नेता रामगोपाल यादव ने कहा कि आज से इलाहाबाद हाईकोर्ट में इस मामले की सुनवाई शुरू होनी थी. जिस ट्रक ने पीड़िता को टक्कर मारी उसकी नंबर प्लेट पर जान-बूझकर ग्रीस लगाई गई थी. साथ ही पीड़िता के सुरक्षाकर्मी भी छुट्टी पर थे. ऐसे में इस मामले की सीबीआई से जांच करवाई जानी चाहिए. एमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने भी सपा नेता की मांग पर अपनी सहमति जताई. वहीं बसपा की प्रमुख मायावती ने इस हादसे को ‘साजिश’ करार दिया है.