पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की मुखिया महबूबा मुफ्ती ने नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) के प्रमुख फारुख अब्दुल्ला से एक सर्वद​लीय बैठक बुलाने का आग्रह किया है. एक ट्वीट के जरिये पीडीपी की नेता ने कहा है, ‘राज्य में घटित हाल की गतिविधियों से जम्मू-कश्मीर के लोगों में दहशत का माहौल है. ऐसे में मैंने डॉक्टर फारुख अब्दुल्ला साहब से सर्वदलीय बैठक बुलाने की गुजारिश की है.’ इस ट्वीट से महबूबा मुफ्ती ने आगे कहा, ‘हम कश्मीर के लोगों को एक होने की जरूरत है. साथ ही यह वक्त की मांग है कि हम एकजुट होकर अपनी प्रतिक्रिया दें.’

इससे पहले बीत हफ्ते राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने दो दिवसीय कश्मीर दौरा किया था. उस दौरान उन्होंने वहां खुफिया एजेंसियों के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठकें की थीं. उनके वहां से वापस लौटने के बाद गृह मंत्रालय ने घाटी में दस हजार अतिरिक्त सशस्त्र बलों की तैनाती को मंजूरी दे दी थी. साथ ही बीते शनिवार को देश के ​विभिन्न हिस्सों से सुरक्षा बलों को एयरलिफ्ट करके कश्मीर पहुंचाया गया था.

उस वक्त भी महबूबा मुफ्ती ने केंद्र के उस फैसले की आलोचना करते हुए कहा था कि सैन्य संसाधनों से कश्मीर की समस्या का हल नहीं हो सकता क्योंकि यह एक ‘राजनीतिक समस्या’ है. इसके अलावा उन्होंने भारत सरकार से अतिरिक्त बलों की तैनाती के फैसले पर पुनर्विचार करने को भी कहा था. इस दौरान महबूबा मुफ्ती ने सरकार के इस कदम को जम्मू-कश्मीर से धारा 35ए हटाने की कोशिश से जोड़कर भी देखा है. इसके बाद इसी रविवार को पीडीपी के स्थापना दिवस के मौके पर पार्टी कार्यकर्ताओं से उन्होंने कहा था, ‘जो कोई 35ए में फेरबदल की कोशिश कर रहा है वह बारूद से खेल रहा है. इसके विनाशकारी परिणाम होंगे जिन्हें कोई नियंत्रित नहीं कर पाएगा.’

इस बीच धारा 35ए और 370 को लेकर फारुख अब्दुल्ला का भी बयान आया है. उन्होंने कहा है, ‘धारा 35ए और 370 को नहीं हटाया जाना चाहिए. ये हमारी बुनियाद हैं. इन्हें हटाने की कोई जरूरत नहीं है. हम हिंदुस्तानी हैं लेकिन ये (35ए और 370) हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं.’

https://twitter.com/ANI/status/1155763800555098112